close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कर्मचारियों पर भड़के कुमारस्वामी- आपने नरेंद्र मोदी को वोट किया है, काम मुझसे करवाना चाहते हैं

येरमरूस थर्मल पावर स्टेशन के कर्मचारियों ने अपनी मांगों की सूची सौंपने के लिए मुख्यमंत्री के काफिले का रास्ता रोक दिया. कर्मचारियों का एक समूह जब कुमारस्वामी के पास पहुंचा तो वह उन पर भड़क गए.

कर्मचारियों पर भड़के कुमारस्वामी- आपने नरेंद्र मोदी को वोट किया है, काम मुझसे करवाना चाहते हैं
कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी (फाइल फोटो)

बेंगलुरु: मुख्यमंत्री एचडी कुमार स्वामी को कर्नाटक के रायचूर जिले में येरमरूस थर्मल पावर स्टेशन के कर्मचारियों द्वारा अपनी मांगों की सूची सौंपने के लिए काफिले का रास्ता रोकना नागवार गुजरा. कर्मचारियों का एक समूह जब कुमारस्वामी के पास पहुंचा तो वह उन पर भड़क गए.  मुख्यमंत्री अपने ‘ग्राम वास्तव्य’ (गांव प्रवास) कार्यक्रम के लिए प्रदेश के रायचूर में थे .

मुख्यमंत्री ने थर्मल कर्मचारियों से कहा, ‘आपने नरेंद्र मोदी को वोट किया है और काम आप मुझसे करवाना चाहते हैं . आप मुझसे चाहते हैं कि मैं आपका आदर करूं . क्या मुझे आप पर लाठीचार्ज कराना चाहिए . यहां से जाइए .’ मुख्यमंत्री के इस रवैये से हर व्यक्ति हैरान रह गया . इसके बाद मुख्यमंत्री वहां से चले गए .

'अगर प्रधानमंत्री का काफिला रोका जाएगा तो क्या कोई स्वीकार करेगा' 
बाद में कुमारस्वामी ने एक चैनल से कहा कि उन्होंने कर्मचारियों की समस्या के समाधान के लिए 15 दिन का वक्त मांगा था लेकिन उन्होंने सड़क जाम कर दी और इससे उन्हें गुस्सा आ गया . उन्होंने पूछा कि अगर प्रधानमंत्री का काफिला रोका जाएगा तो क्या कोई स्वीकार करेगा .

कुमारस्वामी ने कहा कि यह सरकार सहिष्णु है लेकिन यह अक्षम नहीं है और इसे पता है कि स्थिति से कैसे निपटा जाए . इस बीच कर्नाटक भाजपा ने मुख्यमंत्री के इस रवैये की निंदा की है और कहा है कि अगर उन्होंने लोगों से माफी नहीं मांगी तो राज्यव्यापी प्रदर्शन किया जाएगा .

भाजपा के विधान पार्षद एवं प्रवक्ता एन रवि कुमार ने कहा है कि लगता है कि मुख्यमंत्री यह भूल गए हैं कि वह राज्य के 6.5 करोड़ लोगों के मुख्यमंत्री है न कि जद(एस) के कुछ कार्यकर्ताओं और विधायकों के.  उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की यह कार्रवाई लोकतंत्र के खिलाफ है .