close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस विधायकों में मारपीट के बाद सामने आई घायल MLA की तस्वीर, गणेश के खिलाफ FIR

आनंद सिंह पर बेरहमी से हमला किया गया है. उनकी एक आंख में तो इतनी चोट आई है कि वह खुल भी नहीं पा रही है. दूसरी आंख में भी चोट के निशान हैं. दूसरे विधायक जेएन गणेश का दावा- झड़प में मैं भी जख्मी हुआ.

कांग्रेस विधायकों में मारपीट के बाद सामने आई घायल MLA की तस्वीर, गणेश के खिलाफ FIR
आनंद सिंह ने जेएन गणेश के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है. ANI

बेंगलूर : एक रिजॉर्ट में कांग्रेसी विधायकों के बीच हुई मारपीट के बाद अब एमएलए आनंद सिंह की तस्वीर सामने आई है. इस समय उनका इलाज अपोलो हॉस्पिटल में चल रहा है. आरोप है उन पर कांग्रेस के ही दो विधायक जेएन गणेश और भीमा नाइक ने उन पर हमला किया. तस्वीरों से साफ जाहिर है कि आनंद सिंह पर बेरहमी से हमला किया गया है. उनकी एक आंख में तो इतनी चोट आई है कि वह खुल भी नहीं पा रही है. दूसरी आंख में भी चोट के निशान हैं.

अब इस मामले में आनंद सिंह की ओर से विधायक गणेश के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गई है. हालांकि इस मामले में पहले कांग्रेस की ओर से लीपापोती करने की कोशिश की गई थी. कांग्रेस की ओर से कहा गया था कि हम सब एक परिवार हैं. हमारे विधायकों के बीच कोई मारपीट नहीं हुई है. हालांकि बाद में उनके ये दावे सच साबित नहीं हुए. उधर आनंद सिंह की पत्नी ने पहले ही कह दिया था कि वह जेएन गणेश के खिलाफ केस करेंगी.

दूसरे विधायक ने भी किया घायल होने का दावा
उधर, कांग्रेस विधायक जे एन गणेश ने सोमवार को दावा किया कि शनिवार की रात एक निजी रिजॉर्ट में अपने साथी विधायक आनंद सिंह के साथ हुई कथित झड़प में वह भी जख्मी हुए थे. कांग्रेस के दोनों विधायकों के बीच हुई कथित झड़प के कारण अपने सभी विधायकों को एकजुट रखने की पार्टी की कोशिशों को झटका लगा था.

गणेश ने संकेत दिए कि ईगलटन रिजॉर्ट में उनके और आनंद के बीच झड़प हुई थी, लेकिन उन्होंने मीडिया में आ रही खबरों को नकारते हुए कहा कि ‘‘बोतल से कोई हमला नहीं किया गया’’ था. भाजपा की ओर से कांग्रेस के विधायकों को अपने पाले में करने की कथित कोशिशों के बीच सत्ताधारी कांग्रेस ने शुक्रवार को अपने विधायकों को रिजॉर्ट में रखा था.

कथित झड़प में जख्मी हुए आनंद को रविवार को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, दोनों विधायकों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी. गणेश ने कहा, ‘‘मीडिया ने मेरी ओर से (आनंद सिंह के) सिर पर बोतले मारने....14 से 20 टांके पड़ने...जैसी जो भी बातें कही हैं, वे सब पूरी तरह गलत हैं.’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरे द्वारा अपने अंगरक्षक पर हमले की भी खबरें गलत हैं। वह खुद यहां मौजूद है. यह भी झूठ है.’ आनंद को अपने बड़े भाई जैसा बताते हुए गणेश ने कहा कि वह और उनका परिवार आनंद का सम्मान करता है और वे उन्हें 15-20 साल से जानते हैं. गणेश ने कहा, ‘‘मैंने उनके साथ जानबूझकर यह सब नहीं किया. किसी मुद्दे पर भीमा नाइक (एक अन्य कांग्रेस विधायक) और आनंद सिंह के बीच मतभेद थे...मैंने (समझौता कराने के लिए) उन्हें साथ लाना चाहा....लेकिन कुछ गलत चीजें हो गईं.’

उन्होंने कहा कि इन बातों से यदि आनंद सिंह को दुख हुआ है तो ‘‘मैं उनके परिवार से माफी मांगना चाहूंगा. यह जानबूझकर नहीं किया गया.’ आनंद के जख्मी होने के बारे में पूछे जाने पर गणेश ने कहा, ‘‘आप जैसा सोचते हैं वैसा कुछ नहीं है...मुझे भी चोटें आई हैं. मैं नहीं कह सकता...छोड़िए, आप जैसा सोच रहे वैसा कुछ नहीं है.’ यह पूछे जाने पर कि वह मीडिया पर ठीकरा क्यों फोड़ रहे, इस पर गणेश ने कहा, ‘आपसे किसने कहा कि मैंने (आनंद को) बोतल से मारा? मीडिया इस तरह दिखा रहा है जो गलत है. हमारा अंगरक्षक यहां है। उससे पूछिए.’