सच के साथ ZEE NEWS: वह VIDEO जिससे कठुआ केस में जंगोत्रा निर्दोष साबित हुए

इस मामले में (Kathua Rape Murder Case) सीसीटीवी की एक फुटेज की बड़ी भूमिका रही.

सच के साथ ZEE NEWS: वह VIDEO जिससे कठुआ केस में जंगोत्रा निर्दोष साबित हुए
Play

नई दिल्‍ली: कठुआ रेप-हत्‍या केस में पठानकोट की विशेष अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी करार दिया है. आज दोपहर बाद इनकी सजा का ऐलान होगा. इस बीच कोर्ट ने सातवें आरोपी विशाल जंगोत्रा को बरी कर दिया है. इस मामले में (Kathua Rape Murder Case) सीसीटीवी की एक फुटेज की बड़ी भूमिका रही. इसी के आधार पर विशाल को छोड़ा गया. जी न्‍यूज (ZEE NEWS) ने सबसे पहले इस फुटेज को दिखाते हुए कहा था कि वारदात के वक्‍त विशाल वहां मौजूद नहीं था. उसकी जगह वह मुजफ्फरनगर के मीरापुर में मौजूद था और वहां के एक एटीएम में पैसा निकाल रहा था. एटीएम में मौजूद सीसीटीवी की फुटेज से इसकी पुष्टि होती है.

विशाल जंगोत्रा का केस
जम्मू के कठुआ में 8 साल की बच्ची के रेप और हत्या के मामले में उस वक्‍त बड़ा खुलासा हुआ जब ZEE NEWS ने विशाल जंगोत्रा का एक वीडियो दिखाया था, जिसमें वो वारदात के वक्‍त कठुआ से करीब 570 किलोमीटर दूर मुज़फ़्फ़रनगर के मीरापुर में एक ATM से पैसे निकाल रहा था. जबकि चार्जशीट के मुताबिक विशाल को कठुआ में होना चाहिए था.

Kathua Rape Case Verdict LIVE: जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ गैंगरेप केस में 4 पुलिसकर्मियों समेत 6 दोषी करार, 1 बरी

पुलिस की चार्जशीट
चार्जशीट के मुताबिक पिछले साल 10 जनवरी को नाबालिग आरोपी ने 8 साल की बच्ची का अपहरण किया और उसे बंधक बनाकर, उसके साथ रेप किया. इसके बाद 11 जनवरी को नाबालिग आरोपी ने विशाल जंगोत्रा को फोन किया और उसे बच्ची के अपहरण के बारे में बताया. विशाल जंगोत्रा उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रनगर में एक कॉलेज से BSc Agriculture की पढ़ाई कर रहा था और वहीं रहता था. चार्जशीट में लिखा है कि इस दौरान नाबालिग आरोपी ने विशाल को ऑफर दिया कि अगर वो चाहे तो वो भी इस बच्ची से रेप कर सकता है.

इसके बाद अगले दिन यानी 12 जनवरी 2018 को सुबह 6 बजे विशाल जंगोत्रा कठुआ के रसाना गांव पहुंच गया. क्राइम ब्रांच की चार्जशीट के मुताबिक इसके बाद विशाल जंगोत्रा ने बच्ची के साथ 13 जनवरी को रेप किया. और फिर बच्ची की हत्या करके और उसके शव को जंगल में फेंकने के बाद विशाल जंगोत्रा 15 जनवरी को शाम के 4 बजे तक कठुआ में ही था. और इसके बाद वो वापस मीरापुर आ गया. यानी क्राइम ब्रांच के मुताबिक विशाल जंगोत्रा 12 जनवरी से 15 जनवरी की शाम 4 बजे तक कठुआ में ही था. और ये बात चार्जशीट से साफ होती है.

लेकिन इस मामले में तीन ऐसे Videos सामने आए जो क्राइम ब्रांच की चार्जशीट में लिखी बातों पर शक पैदा करते हैं:

पहला वीडियो- मुज़फ्फरनगर के मीरापुर के कॉरपोरेशन बैंक के ATM के बाहर का है. तारीख है 12 जनवरी 2018 और वक्त है दोपहर के 3 बजकर 47 मिनट और 18 सेकेंड इस वीडियो में विशाल जंगोत्रा ATM के अंदर जा रहा था. बाहर उत्तर प्रदेश पुलिस की जीप भी खड़ी थी.

दूसरा वीडियो ATM के अंदर का है. 3 बजकर 47 मिनट और 24 सेकेंड पर विशाल जंगोत्रा ATM में दाखिल होता है. अपना कार्ड ATM में डालता है. लेकिन पैसे नहीं निकलते. जिसके बाद विशाल जंगोत्रा ATM कार्ड को अपने पर्स में रखता है और ठीक 3 बजकर 48 मिनट और 3 सेकेंड पर ATM से बाहर निकल जाता है.

तीसरा वीडियो- यह ATM के बाहर का वीडियो है. इस वीडियो में भी विशाल जंगोत्रा निकलता हुआ दिखाई दे रहा है. ठीक 3 बजकर 48 मिनट और 11 सेकेंड पर विशाल ATM से निकल रहा है. वहां पर कुछ पुलिसवाले भी खड़े हैं. अगर विशाल जंगोत्रा 12 जनवरी को दोपहर 3 बजकर 48 मिनट पर मीरापुर में मौजूद था, तो फिर क्राइम ब्रांच की चार्जशीट में ये क्यों लिखा गया कि वो 12 जनवरी को सुबह 6 बजे कठुआ पहुंच गया था? इसका सीधा सा मतलब ये है कि क्राइम ब्रांच ने अपनी जांच ठीक से नहीं की.