केरल में बाढ़ का कहर जारी, अब तक 324 लोगों की मौत, लाखों लोग राहत कैम्पों में

केरल में स्थिति इतनी गंभीर है कि हालात का जायजा लेने के लिए पीएम मोदी देर रात केरल पहुंचे.

केरल में बाढ़ का कहर जारी, अब तक 324 लोगों की मौत, लाखों लोग राहत कैम्पों में
केरल पिछले 100 सालों में सबसे भीषण बाढ़ का सामना कर रहा है (फोटोः रॉयटर्स)

नई दिल्लीः केरल में बाढ़ के हालात इतने गंभीर है कि पिछले 9 दिनों में राज्य में अब तक 324 लोगों के मारे जाने की खबर है. ऐसा बताया जा रहा है कि राज्य में पिछले 100 सालों में ऐसा मंजर नहीं आया है. केरल में स्थिति इतनी गंभीर है कि हालात का जायजा लेने के लिए पीएम मोदी देर रात केरल पहुंचे. इसके अलावा कई राज्यों के सीएम ने केरल में राहत औऱ बचाव के लिए सहायता भेजी है. केरल के सीएम पी विजयन के ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, 'केरल पिछले 100 सालों में सबसे भीषण बाढ़ का सामना कर रहा है, 80 बांध खोल दिए गए है, 324 जिंदगियां खत्म हो गई और 2 लाख 23 हजार 139 लोगों को 1500 से ज्यादा राहत शिविरों में पहुंचाया गया है.'

केरल में बाढ़ का कहर जारी, अब तक 324 लोगों की मौत, लाखों लोग राहत कैम्पों में

इसके साथ ही सीएम विजयन ने अपील की है कि प्रभावित लोगों की मदद के लिए आगे आएं. 

 

बता दें कि इस प्राकृतिक आपदा ने राज्य को झकझोर कर रख दिया है. राज्य का टूरिज्म बिजनेस बर्बाद हो गया है, हजारों हेक्टेयर उपजी फसलें तबाह हो गई हैं. राज्य में अस्पताल ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं तो तेल पंपों पर का ईंधन संकट है. 

NDRF ने कहा, केरल में 4000 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया

केजरीवाल और कैप्टन ने केरल के लिए 10-10 करोड़ रुपये की सहायता का ऐलान किया
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बाढ़ से तबाह केरल के लिए आज 10 करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की. केजरीवाल ने लोगों से संकट में फंसे राज्य के लिए उदारतापूर्वक दान करने की अपील की है. उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री से भी बातचीत की है.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मैंने केरल के मुख्यमंत्री से बातचीत की. दिल्ली सरकार 10 करोड़ रुपये का योगदान कर रही है. मैं सभी से केरल के अपने भाइयों और बहनों के लिए उदारतापूर्वक दान करने की अपील करता हूं. ’

वहीं पंजाब सरकार ने भी केरल के लिए 10 करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की थी. पंजाब सरकार के बयान के अनुसार तुरंत खाने योग्य 30 टन खाद्य सामग्री केरल भेजी जाएगी. केरल पिछले एक सदी में सबसे भयंकर बाढ़ से जूझ रहा है.