close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: चिकित्सा महकमे के 2 अधिकारियों में ठनी, बिना सूचना दिए बैठक बुलाने पर CMHO नाराज

परियोजना निदेशक टीकाकरण और डायरेक्टर आरसीएच जयपुर के निर्देश पर कोटा आरसीएचओ डॉ. महेंद्र त्रिपाठी ने एमआर सर्विलेंस और मिशन इंद्रधनुष कार्य योजना की कार्यशाला आयोजित की है.

कोटा: चिकित्सा महकमे के 2 अधिकारियों में ठनी, बिना सूचना दिए बैठक बुलाने पर CMHO नाराज
सीएमएचओ द्वारा लिखा गया पत्र विभाग में चर्चा का विषय बना है.

मुकेश सोनी, कोटा: अपनी कार्य शैली को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वाले कोटा सीएमएचओ डॉ. भूपेंद्र सिंह तंवर एक बार फिर चर्चाओं में है. इस बार चर्चा बना है उनके द्वारा आरसीएचओ के नाम लिखा गया पत्र. 25 अक्टूबर को लिखे गए पत्र में सीएमएचओ ने बिना उन्हें सूचित किए जिला स्तरीय बैठक में चिकित्सकों को बुलाने पर नाराजगी जताई है और चेतावनी देते हुए लिखा है कि भविष्य में आपसी विचार विमर्श के बाद बैठक आयोजित करें अन्यथा उच्चाधिकारी के आदेश की अवहेलना का दोषी मानते हुए आपके विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही हेतु प्रस्ताव तैयार कर उच्चाधिकारियों को प्रेषित कर दिए जाएंगे. 

सीएमएचओ द्वारा लिखा गया पत्र विभाग में चर्चा का विषय बना है. इस बीच मौसमी बीमारियों की रोकथाम को लेकर बुलाई गई बैठक का फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें सीएमएचओ "दबंग स्टाइल" में मेज पर बैठे है, और महिला कार्यकताओं की मीटिंग ले रहे हैं. हालांकि जी मीडिया इस वायरल फोटो की पुष्टि नहीं करता है.

ये है मामला
परियोजना निदेशक टीकाकरण और डायरेक्टर आरसीएच जयपुर के निर्देश पर कोटा आरसीएचओ डॉ. महेंद्र त्रिपाठी ने एमआर सर्विलेंस और मिशन इंद्रधनुष कार्य योजना की कार्यशाला आयोजित की है. 4 नवंबर को डब्ल्यूएचओ के सहयोग से बुलाई गई चिकित्सकों की जिला स्तरीय इस बैठक में जिले की सीएचसी, पीएचसी के इंचार्ज को आमंत्रित किया गया है. 

इसी बात को लेकर सीएमएचओ ने नाराजगी जताई है. सीएमएचओ ने आरसीएचओ को भेजे गए पत्र में लिखा है कि आपको पूर्व में भी निर्देशित किया किया था कि जिले की चिकित्सा संस्थाओं (शहरी और ग्रामीण) में पदस्थापित चिकित्सकों को बैठक/ कार्यशाला में बुलाने के लिए नोटिस बिना अधोहस्ताक्षरकर्ता की जानकारी में लाए बिना ही जारी किए जाने के कारण आपको आगाह किया गया था. परंतु आपके द्वारा निर्देशों की अवेहलना करते हुए 4 नवम्बर को जिला स्तरीय आमुखीकरण कार्यशाला डब्ल्यूएचओ के सहयोग से आयोजित की जा रही है. जिससे प्रतीत होता है कि आप उच्चाधिकारियों के निर्देशों एंव आदेशो की अवहेलना करने के आदि हैं. क्यों नहीं आपके विरुद्ध राजस्थान सेवा अधिनियम के तहत कार्यवाही के प्रस्ताव निदेशालय चिकित्सा एंव स्वास्थ्य सेवाएं राजस्थान जयपुर को प्रेषित किए जाएं.

आरसीएचओ डॉ. महेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि परियोजना निदेशक टीकाकरण और डायरेक्टर आरसीएच जयपुर के निर्देश पर ये वर्क शॉप आयोजित की गई है. स्टेट लेवल के ऑफिसर के निर्देश के बाद ही कोटा में वर्कशॉप आयोजित की जा रही है. पत्र क्यों लिखा, ये तो सीएमएचओ साहब ही बताएंगे उनको क्या आपत्ति है, उन्होंने क्यो चेतावनी दी है. जबकि पूर्व में भी आरसीएचओ और डिप्टी सीएमएचओ अपने हिसाब से मीटिंग बुलाते रहे हैं. वैसे भी सीएमएचओ, मेडिकल ऑफिसर को कारण बताओ नोटिस दे सकता है. अपने बराबर के अधिकारी को नहीं. दिवाली की छुट्टी के कारण उनकी चेतावनी का जवाब नहीं दे पाया. छुट्टियों के बाद जवाब दूंगा.