close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: एमबीएस अस्पताल को लेकर वकील ने दायर की जनहित याचिका, जानें पूरा मामला

अस्पताल प्रशासन नवनिर्मित भवन तैयार होने के बाद भी लैब इसमें शिफ्ट करने का प्रयास नहीं कर रहा है. 

कोटा: एमबीएस अस्पताल को लेकर वकील ने दायर की जनहित याचिका, जानें पूरा मामला

कोटा: राजस्थान के कोटा के एमबीएस स्थित सेंट्रल लैब का भवन 3 माह से बनकर तैयार होने के बाद भी पूर्ण तरीके से शिफ्टिंग नहीं करने का मामला पहुंचा है. मामले को लेकर एक वकील ने स्थाई लोक अदालत में जनहित याचिका पेश की है. कोर्ट ने याचिका स्वीकार करते हुए मामले में जिला कलेक्टर, एमबीएस अस्पताल अधीक्षक एवं केंद्रीय प्रयोगशाला प्रभारी को नोटिस जारी किया है. 

तीनों अधिकारियों को 22 अक्टूबर को जवाब तलब किया है. याचिकाकर्ता वकील लोकेश कुमार सैनी ने बताया एमबीएस  अस्पताल परिसर में करीब 1 करोड़ की लागत की सेंट्रल लैब का भवन विगत 3 माह से बनकर तैयार है. अस्पताल प्रशासन नवनिर्मित भवन तैयार होने के बाद भी लैब इसमें शिफ्ट करने का प्रयास नहीं कर रहा है. 

जिस कारण मरीजों को काफी परेशान होना पड़ रहा है. सेंट्रल लैब में इन दिनों मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना के तहत 67 प्रकार के निशुल्क जांच होती है. नवनिर्मित भवन में शिफ्ट होने के बाद इससे मरीजों को काफी सुविधाएं मिलेगी मरीजों एवं तीमारदारों को धूप में खड़े होने से निजात मिलेगी. वर्तमान में मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण आश्रय स्थल में ही जगह कम पड़ रही है सेंट्रल लेब में माइक्रोबायोलॉजी, पैथोलॉजी एवं बायोकेमिस्ट्री विभाग संचालित है. नए भवन के साथ कई तरह की नई जांचो का विस्तार होगा और मरीजों को लाभ सीधा मिलेगा मरीजों के बैठने की समस्या समाप्त हो जाएगी.