close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा के छात्र ने बनाया सड़क दुर्घटनाओं को कम करने वाला चश्मा, ऐसे करता है काम

ड्राइविंग करते वक्त इस चश्मे को लगाने पर जैसी चालक को झपकी आएगी और आंखें बंद होनें लगेंगी वैसे ही चश्मे में लगा सेंसर इसे ट्रैक कर लेगा जिससे एक दम से बजर बज जाएगा और चश्मा वाइब्रेट होगा.

कोटा के छात्र ने बनाया सड़क दुर्घटनाओं को कम करने वाला चश्मा, ऐसे करता है काम
इस चश्मे का निर्माण कोटा के विज्ञान नगर के रहने वाले छात्र प्रत्यूष सुधाकर ने किया है.

कोटा: राजस्थान के कोटा के 11वीं के छात्र ने एक ऐसा चश्मा बनाया है जो सड़क हादसों को रोकने में मदद करेगा. 11वीं कक्षा के छात्र द्वारा बनाया गया यह चश्मा कई स्थितियों में मददकारी साबित होगा. दरअसल, गाड़ी चलाते वक्त कई बार चालक को नींद आने लगती है और उसकी आंख लग जाती है. ऐसा अधिकतर लंबी दूरी तक वाहन चलाते रहने के कारण होता है. इस तरह के हादसों को रोकने के लिए यह चश्मा काफी मददकारी साबित हो सकता है. 

आपको बता दें, इस चश्मे का निर्माण कोटा के विज्ञान नगर के रहने वाले छात्र प्रत्यूष सुधाकर ने किया है. प्रत्यूष द्वारा बनाए गए इस चश्मे के बारे में जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने बताया कि देश में अचानक छपकी आ जाने के कारण होने वाली दुर्घटनाओं का आंकड़ा काफी अधिक है. इस वजह से उसने इस चश्मे का निर्माण किया है. 

इस तरह काम करता है यह चश्मा
ड्राइविंग करते वक्त इस चश्मे को लगाने पर जैसी चालक को झपकी आएगी और आंखें बंद होनें लगेंगी वैसे ही चश्मे में लगा सेंसर इसे ट्रैक कर लेगा जिससे एक दम से बजर बज जाएगा और चश्मा वाइब्रेट होगा. इससे वाहन चालक की नींद खुल जाएगी और नींद आ जाने के कारण होने वाली दुर्घटनाओं के आंकड़े में कमी आएगी. प्रत्यूष ने बताया कि अब वह इस चश्मे को और मॉडिफाय करके इसे पेटेंट करवाना चाहते हैं. 

प्रत्यूष ने ऐसे बनाया यह चश्मा
प्रत्यूष ने बताया कि उन्होंने इंटरनेट पर कुछ वीडियो देखी और वह एक वर्कशॉप में गया तो उसे लगा कि ऐसी डिवाइस बनाई जाए जो झपकी आने पर चालक को जगा दे. उसने बताया कि, इस चश्मे में उसने आईआर सेंसर लगाया है. इसके साइट पर दो एलईडी लगाए हैं. इसका साइंटिफिक नियम इसके आईआर एलईडी और फोटोडायोड है. जब आईआर एलईडी से रेंज निकलती है तो वह हमारी आंख बंद होने पर रिफ्लेक्ट करती है. उस पर यह आईआर ले लेता है तो वह आउटपुट जनरेट कर बजर बजा देता है. वह तेजी से वाइब्रेट करने लगता है जिससे चालक की नींद खुल जाती है.