प्रमोद सावंत हो सकते हैं गोवा के नए CM, आज ही ले सकते हैं शपथ

कांग्रेस के 14 विधायक राजभवन में राज्‍यपाल से मुलाकात करना चाहते थे लेकिन राज्‍यपाल ने उनको मुलाकात का समय नहीं दिया.

प्रमोद सावंत हो सकते हैं गोवा के नए CM, आज ही ले सकते हैं शपथ
प्रमोद सावंत गोवा विधानसभा अध्‍यक्ष हैं. (फाइल फोटो)

पणजी: गोवा के मुख्‍यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद राज्‍य में उपजे सियासी हालात के बीच बीजेपी नेता प्रमोद सावंत राज्‍य के नए मुख्‍यमंत्री हो सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक बीजेपी ने उनका नाम तय कर लिया है. वह आज दोपहर तीन बजे के बाद मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. इससे पहले गोवा भाजपा प्रमुख ने कहा था कि गोवा के अगले मुख्यमंत्री को लेकर अपराह्न दो बजे तक फैसला हो जाएगा. तीन बजे के बाद शपथ ग्रहण समारोह होगा.

हालांकि सूत्रों के मुताबिक गोवा के मुख्यमंत्री पद के लिए बीजेपी की तरफ से प्रमोद सावंत के अलावा विश्वजीत राणे का नाम भी आगे चल रहा था लेकिन सूत्रों के मुताबिक विधानसभा अध्‍यक्ष प्रमोद सावंत को बीजेपी ने मुख्‍यमंत्री बनाने का फैसला किया है. हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि अभी मुख्‍यमंत्री के नाम की घोषणा इसलिए नहीं हो पा रही है क्‍योंकि सत्‍ताधारी बीजेपी और सहयोगी क्षेत्रीय दलों एमजीपी और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के बीच इसके लिए अंतिम सहमति नहीं बन पाई है. हालांकि इससे पहले दोनों क्षेत्रीय दलों के नेता इस बात पर सहमत थे कि यदि अभी मुख्‍यमंत्री के चेहरे पर सहमति नहीं बन पाती तो विधानसभा को निलंबित रखा जा सकता है.

राज्‍यपाल ने कांग्रेस नेताओं को मिलने का नहीं दिया समय
उधर पणजी में सोमवार को सुबह कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई. उसके बाद कांग्रेस के 14 विधायक राजभवन में राज्‍यपाल से मुलाकात करना चाहते थे लेकिन राज्‍यपाल ने उनको मुलाकात का समय नहीं दिया. इस संबंध में विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर ने कहा कि राज्यपाल ने पार्टी के विधायकों को मिलने का समय देने से इनकार कर दिया जिसके बाद विधायकों ने बिना बुलाए ही राज भवन जाने का फैसला किया है.

LIVE: PM मोदी पणजी रवाना, मनोहर पर्रिकर की अंतिम यात्रा में होंगे शामिल

विपक्षी दल ने शुक्रवार को सरकार बनाने का दावा पेश करते हुए राज्यपाल को पत्र लिखा था और रविवार को फिर से पत्र लिखा था. कावलेकर ने कहा, ‘‘हम सदन में बहुमत वाली पार्टी हैं और फिर भी मुलाकात का समय लेने के लिए संघर्ष करना पड़ा. हम मांग करते हैं कि हमें पर्रिकर के निधन के बाद भाजपा सरकार के ना रहने की स्थिति में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाए.’’

गोवा का सियासी संकट, बीजेपी MLA बोले- '3 सीटों वाले सुदीन धवलीकर बनना चाहते हैं CM'

दलों का गणित
कांग्रेस राज्य में अभी सबसे बड़ी पार्टी है. 40 सदस्यीय विधानसभा में उसके पास 14 विधायक हैं जबकि भाजपा के पास 12 विधायक हैं. इस साल की शुरुआत में भाजपा विधायक फ्रांसिस डीसूजा के निधन और रविवार को पर्रिकर के निधन तथा पिछले साल दो कांग्रेस विधायक सुभाष शिरोडकर और दयानंद सोप्ते के इस्तीफे के कारण विधानसभा में सदस्यों की संख्या 36 रह गई है.

गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी), महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) के पास तीन-तीन विधायक हैं जबकि राकांपा के पास एक विधायक है. तीन निर्दलीय विधायक भी हैं. जीएफपी, एमजीपी और निर्दलीय विधायक पर्रिकर सरकार का हिस्सा थे.

(इनपुट: एजेंसी भाषा से भी)