नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में पेश, चर्चा के पक्ष में 293 वोट

राजनीतिक रूप से संवेदनशील इस विधेयक को लेकर विपक्ष की ओर से विरोध के स्वर उठ रहे हैं.

अंतिम अपडेट: सोमवार दिसम्बर 9, 2019 - 01:45 PM IST

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) सोमवार को लोकसभा (Lok Sabha) में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) पेश कर दिया है. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले बुधवार को इस विधेयक को मंजूरी दी थी. 

पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बंग्लादेश में उत्पीड़न के कारण वहां से भागकर आए हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्मावलंबियों को नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 के तहत भारत की नागरिकता प्रदान की जाएगी.

इस विधेयक का विपक्ष ने पहले ही विरोध किया है. कांग्रेस ने इसे असंवैधानिक करार दिया है. विधेयक में मुस्लिम को छोड़ देने को लेकर अल्पसंख्यक गुटों ने भी इसका विरोध किया है. मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने रविवार को एक प्रेसवार्ता के दौरान ऐलान किया कि वह प्रस्तावित विधेयक में दो संशोधन का प्रस्ताव पेश करेगी.

9 दिसम्बर 2019, 13:47 बजे

नागरिकता संशोधन बिल के चर्चा के पक्ष में 293 और खिलाफ 82 वोट पड़े.

9 दिसम्बर 2019, 13:33 बजे

इस बिल में मुस्लिमों को इसलिए नहीं रखा गया क्योंकि उनके साथ कोई धार्मिक प्रताड़ना नहीं हुई है: अमित शाह

9 दिसम्बर 2019, 13:25 बजे

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, 'धर्म के आधार पर इस देश का विभाजन कांग्रेस पार्टी ने किया.'

9 दिसम्बर 2019, 13:23 बजे

बिल को समझने के लिए पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के संविधान को समझना होगा: अमित शाह 

9 दिसम्बर 2019, 13:19 बजे

1971 में इंदिरा गांधी ने बांग्लादेशियों को नागरिकता दी लेकिन पाकिस्तान से आए हिंदुओं को नागरिकता क्यों नहीं दी गई: अमित शाह

9 दिसम्बर 2019, 13:05 बजे

अमित शाह ने कहा, 'नागरिकता संशोधन बिल संविधान के किसी अनुच्छेद के खिलाफ नहीं है'

9 दिसम्बर 2019, 13:00 बजे

आम आदमी पार्टी संसद में नागरिकता संशोधन बिल का विरोध करेगी. 

9 दिसम्बर 2019, 12:57 बजे

TMC सासंद सौगत रॉय ने कहा, यह विभाजनकारी और असंवैधानिक है. यह संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन करता है

9 दिसम्बर 2019, 12:56 बजे

विपक्ष ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश किए जाने का विरोध किया.

 

9 दिसम्बर 2019, 12:32 बजे

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा नागरिकता संशोधन बिल .001% भी देश के अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं है. 

 

9 दिसम्बर 2019, 12:26 बजे

केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने कहा नागरिकता संशोधन बिल पर हर सवाल का जवाब दूंगा. उन्होंने कहा कि जब बिल पर चर्चा हो तो विपक्ष वॉक आउट न करें

9 दिसम्बर 2019, 12:21 बजे

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश किया

9 दिसम्बर 2019, 12:16 बजे

AIUDF ने जंतर-मंतर पर नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया.

9 दिसम्बर 2019, 12:05 बजे

समाजवादी पार्टी प्रमुख और आजमगढ़ से सांसद अखिलेश यादव ने कहा, हम नागरिकता संशोधन बिल 2019 के खिलाफ हैं और हर कीमत पर इसका विरोध करेंगे.'

9 दिसम्बर 2019, 11:59 बजे

AIUDF के सांसद बदरुद्दीन अजमल ने संसद परिसर में बैनर लेकर नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध जताया. 

9 दिसम्बर 2019, 11:11 बजे

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी के सांसदों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ 2019 प्रदर्शन किया. 

9 दिसम्बर 2019, 11:02 बजे

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह संसद पहुंच गए हैं. दोपहर 12 बजे लोकसभा में वह नागरिकता संशोधन बिल पेश करने वाले हैं. 

9 दिसम्बर 2019, 10:41 बजे

उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमेन वसीम रिजवी ने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर नागरकिता संशोधन बिल-2019 में शिया समुदाय को शामिल करने की मांग की. 

9 दिसम्बर 2019, 10:36 बजे

नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में प्रशन काल के बाद पेश होगा. 

9 दिसम्बर 2019, 10:34 बजे

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में अगरतला में हो रहा है विरोध प्रदर्शन. 

9 दिसम्बर 2019, 10:27 बजे

सूत्रों का कहना है कि मणिपुर में यह बिल लागू नहीं होगा. सूत्रों के मुताबिक लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश करते वक्त गृहमंत्री अमित शाह यह ऐलान कर सकते हैं.