close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

LIVE: महाराष्‍ट्र CM फडणवीस ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा, अब तक राज्‍य में 30 मौतें

महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, केरल और गुजरात में भारी बारिश और बाढ़ से हालात खराब हो गए हैं. सेना, वायुसेना, नौसेना, एनडीआरएफ समेत अन्‍य टीमें बचाव अभियान में जुटी हैं.

अंतिम अपडेट: शनिवार अगस्त 10, 2019 - 03:30 PM IST
मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा. फोटो ANI

नई दिल्‍ली : देश के दक्षिणी राज्‍यों में बारिश और बाढ़ का कहर जारी है. तेज बारिश और बाढ़ के कारण महाराष्‍ट्र में अब तक 30 लोगों की मौत हो चुकी है. इसके अलावा केरल में 42 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. कर्नाटक में भी बाढ़ से हालत काफी खराब हैं. यहां करीब 24 लोगों की मौत हुई है. सेना, वायुसेना, नौसेना, एनडीआरएफ समेत अन्‍य टीमें बचाव अभियान में जुटी हैं. तीनों राज्‍यों के बाढ़ प्रभावित इलाकों से लाखों लोगों से सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया गया है. रेस्‍क्‍यू अभियान लगातार जारी है. कांग्रेेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी रविवार को अपने संसदीय क्षेत्र और बाढ़ प्रभावित वायनाड का दौरा करेंगे. महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित दोनों जिलों सांगली और कोल्‍हापुर का दौरा किया.

10 अगस्त 2019, 15:30 बजे

बाढ़ और बारिश के कारण बंद किए गए कोच्चि एयरपोर्ट पर सोमवार दोपहर 12 बजे से उड़ान सेवाएं शुरू होंगी.

10 अगस्त 2019, 15:26 बजे

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित दोनों जिलों सांगली और कोल्‍हापुर का दौरा किया. इसके बाद उन्‍होंने जानकारी दी कि विशाखापत्‍तनम से नौसेना की टीमें कोल्‍हापुर के शिरोल इलाके में आज पहुंचेंगी. सांगली में इस समय करीब 95 नावें बचाव कार्य में जुटी हैं. उन्‍होंने जानकारी दी कि कोल्‍हापुर और सांगली में लोगों को स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं मुहैया कराने के लिए 100 डॉक्‍टरों की टीम वहां भेजी जा रही है. वहां पर दवाओं की कोई कमी नहीं है. 

10 अगस्त 2019, 14:53 बजे

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित दोनों जिलों सांगली और कोल्‍हापुर का दौरा किया. उन्‍होंने दोनों जिलों की स्थिति की समीक्षा भी की.

10 अगस्त 2019, 14:50 बजे

कर्नाटक में भारी बारिश के कारण मैसुरू डिविजन में 10 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. यह निर्णय इस डिविजन में हुए भूस्‍खलन के कारण लिया गया है.

10 अगस्त 2019, 13:32 बजे

10 अगस्त 2019, 12:58 बजे

कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा ने शनिवार का प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करके जानकारी दी कि राज्‍य में बाढ़ और बारिश के कारण अब तक 24 लोगों की मौत हुई है. राज्‍य में 624 राहत कैंप बनाए गए हैं. 1024 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. उन्‍होंने ऐलान किया कि बाढ़ में जान गंवाने वाले प्रत्‍येक व्‍यक्ति के परिजनों को 5 लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा. येदियुरप्‍पा के अनुसार राज्‍य में एनडीआरएफ की 20 टीमें, सेना की 10 टीमें, नौसेना की 5 टीमें और एसडीआरएफ की 2 टीमें लोगों को बाढ़ से बचाने और उनतक राहत पहुंचाने का काम कर रही हैं.

10 अगस्त 2019, 12:05 बजे

महाराष्‍ट्र के सांगली और कोल्‍हापुर में बाढ़ और बारिश से हालात सर्वाधिक खराब हैं. सांगली में बाढ़ और बारिश के कारण 500 गांव पानी में डूब गए हैं. साथ ही कोल्‍हापुर में बाढ़ से बिगड़े हालात से निपटने और फंसे लोगों को सुरक्षित स्‍थान पर पहुंचाने के लिए विशाखापत्‍तनम से नौसेना की 15 अतिरिक्‍त टीमें आज शाम तक पहुंच रही हैं.

10 अगस्त 2019, 11:19 बजे

दक्षिणी राज्‍यों के साथ की गुजरात में भी बारिश का कहर जारी है. राज्य के कई हिस्‍सों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. गुजरात में पिछले 12 घंटे में बाढ़ और बारिश के कारण 10 लोगों की मौत हो गई है. राज्‍य में अब तक 98 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. भारी बारिश के चलते पिछले 12 घंटे में पुराने मकान गिरने की दो घटनाओं में 10 लोगों की मौत हुई है. खेड़ा में 4 और अहमदाबाद में 4 की मौत हो चुकी है. सूरत में बिजली का करंट लगने से  मां और उसके बेटे की मौत हो हुई है.

10 अगस्त 2019, 09:21 बजे

महाराष्‍ट्र में आज छठा दिन है. वेस्टर्न महाराष्ट्र के तीन जिले सातारा, सांगली, कोल्हापुर अब भी पानी में डुबे हुए हैं. कर्नाटक ने अपने अलमट्टी डैम से पानी छोड़ा है, लेकिन उसका कुछ खास असर देखने को  नहीं मिला है. बारिश कम हुई है, लेकिन पानी का स्तर मुख्य नदी और शहर में अपेक्षा के अनुसार कम नहीं हुआ है. कोल्हापुर जिले के ज्यादातर हिस्से  अब भी बाढ़ से प्रभावित हैं. राहत और बचाव का काम रफ्तार से जारी है.

सरकारी आकड़े के अनुसार अब तक 2 लाख 85 हजार लोगों को सुरक्षित जगहो पर शिफ्ट किया गया. एनडीआरएफ, नेवी, एयरफोर्स, कोस्टगार्ड और राज्य सरकार के कई विभाग से हजारों लोग  लगातार बचाव और राहत कार्य में लगातार जुटे हैं. बाढ़ पीडि़त इलाकों में सरकार ने अपने सभी कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं.

10 अगस्त 2019, 09:18 बजे

केरल में बाढ़ से अब तक 42 लोगों की मौत हुई है. 8 अगस्‍त को मल्‍लापुरम के कवलाप्‍पारा इलाके में भूस्‍खलन हुआ था. आशंका है कि इसमें करीब 30 लोग फंसे हुए हैं. उन्‍हें बचाने के लिए शनिवार को रेस्‍क्‍यू टीमें घटनास्‍थल पर पहुंची हैं. रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन खराब मौसम के चलते बाधित हुआ है.

10 अगस्त 2019, 09:13 बजे

मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन कोंकण और मध्‍य महाराष्‍ट्र के इलाकों में बारिश के आसार हैं. कोल्‍हापुर में बचाव दल की 22 टीमें काम कर रही हैं. जबकि सांगली में 11 टीमें काम कर रही हैं.

10 अगस्त 2019, 09:11 बजे

महाराष्‍ट्र के चीफ सेक्रेटरी अजय मेहता के मुताबिक महाराष्‍ट्र में बारिश के कारण 1 लाख हेक्‍टेयर कृषि भूमि को नुकसान पहुंचा है. नेशनल हाईवे-4 पर करीब  40 हजार ट्रक फंसे हुए हैं. महाराष्‍ट्र में बाढ़ के कारण करीब 2.85 लाख लोग विस्‍थापित किए गए हैं.

10 अगस्त 2019, 09:08 बजे

महाराष्‍ट्र के सांगली और कोल्‍हापुर में बाढ़ से हालात बेहद खराब हैं. ये दोनों ही जिले बाढ़ के पानी में डूबे हुए हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शुक्रवार को एनडीआरएफ की टीमों ने इन दोनों जिलों से करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्‍थान तक पहुंचाया है. सांगली जिले से करीब 8 हजार लोग बचाए गए हैं जबकि कोल्‍हापुर से 2000 हजार लोगों को बचाया गया है.

 

10 अगस्त 2019, 09:02 बजे

गुजरात में बनाए गए सरदार सरोवर बांध के गेट शुक्रवार को पहली बार खोलकर पानी छोड़ा गया है. इस बांध में पानी के स्‍तर की सीमा 131 मीटर है. इसे ही बरकरार रखने के लिए इससे पानी छोड़ा गया है. बता दें कि गुजरात में भी तेज बारिश हो रही है.


सरदार सरोवर बांध से पहली बार छोड़ा गया पानी. फोटो ANI 

10 अगस्त 2019, 08:57 बजे

भारतीय सेना के अनुसार महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए सेना की 123 रेस्‍क्‍यू टीमें लगाई गई हैं. ये टीमें चारों राज्‍यों के 16 बाढ़ प्रभावित जिलों में रेस्‍क्‍यू अभियान चला रही हैं.


सेना बचाव अभियान में जुटी. फोटो ANI