Lockdown: नक्सल एरिया में फंसे 600 बरातियों को रोजाना खाना खिला रहे CRPF के जवान

गढ़चिरौली के इस इलाके में करीब 26 दिनों से सीआरपीएफ के जवान दो बरातियों की दिन और रात मदद कर रहे है और खाने पीने से लेकर रहने की व्यवस्था की हुई है.

Lockdown: नक्सल एरिया में फंसे 600 बरातियों को रोजाना खाना खिला रहे CRPF के जवान

नई दिल्ली: नक्सल प्रभावित गढ़चिरौली (Gadchiroli) के देसाईगंज में शादी के लिए जब बारात आई तो इनमें शामिल दूल्हे और बारातियों इस बात का जरा भी एहसास नहीं था कि सरकार लॉकडाउन (Lockdown) का फैसला लेने जा रही है. लॉकडाउन होते ही सभी तरह की आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लग जिसकी वजह से बरातियों के लिए वापस जाना मुश्किल हो गया. स्थिति उस वक्त और भी गंभीर हो गई जब लड़कियों के घर वाले बेहद गरीब परिवार से थे और इतने दिन तक उनके लिए सभी की सेवा और खाना पीने की व्यवस्था करना मुश्किल था.

ऐसे में इन बारातियों की मजबूरी को देखते हुए गढ़चिरौली के इलाकों में तैनात सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों ने इन लोगों की मदद की जिम्मेदारी संभाल ली. गढ़चिरौली के इस इलाके में करीब 26 दिनों से सीआरपीएफ के जवान दो बरातियों की दिन और रात मदद कर रहे है और खाने पीने से लेकर रहने की व्यवस्था की हुई है.

ये भी देखें:- विजय माल्या पर 13 बैंकों का पैसा बकाया, SBI समेत इनकी अगुवाई में लड़ा गया केस

 

देसाईगंज में स्थित CRPF 191BN के कमांडेंट प्रभाकर त्रिपाठी के मुताबिक दो बारात एक भंडारा और एक चंद्रपुर से अम्बेडकर वार्ड देसाईगंज में आयीं हुई हैं जिनका कार्यक्रम 19 मार्च से 24 मार्च तक था. लेकिन आवाजाही के साधन बंद होने और लॉकडाउन की वजह से फंस गए हैं. लड़कियों के पिता मजदूर हैं जो बारातियों के भोजन का भार नहीं उठा सकते थे. ऐसे में भोजन की व्यवस्था का प्रबंध किया जो लॉकडाउन से लेकर लगातार जारी है.

गौरतलब है कि कुछ CRPF के जवानों की शादी भी इसी बीच होनी थी, जिसमें एक ASI सोनू हैं जिनकी बारात 5 अप्रेल को जानी थी लेकिन नहीं जा सकी और अब वे इन बारातियों की सेवा में लगे हुए हैं. इसी तरह से बहुत सारे गरीब लोग, दिहाड़ी मजदूर,राईस मिल के कामगार इत्यादि फस गए हैं जिनको प्रतिदिन लगभग 600 लोगो को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है. बच्चों को दूध की व्यवस्था की जा रही है और आगे भी जारी रहेगी.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.