आरे मेट्रो प्रोजेक्ट के आंदोलनकारियों पर मेहरबान CM उद्धव ठाकरे, कहा- केस वापस लेंगे

मुंबई की आरे कॉलोनी में मेट्रो कार शेड प्रोजेक्ट के लिए पेड़ काटने के विरोध में प्रदर्शन किया गया था.

आरे मेट्रो प्रोजेक्ट के आंदोलनकारियों पर मेहरबान CM उद्धव ठाकरे, कहा- केस वापस लेंगे
सीएम उद्धव ठाकरे ने आरे मेट्रो कार शेड प्रोजेक्ट पर भी रोक लगा दी.

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने आरे कॉलोनी (Aarey Colony) के आंदोलनकारियों पर दर्ज केस वापस लेने का निर्देश दिया है. अक्टूबर में मुंबई की आरे कॉलोनी में मेट्रो कार शेड के लिए काटे जा रहे पेड़ों को बचाने के लिए धरना-प्रदर्शन किया गया था. इस दौरान पर्यावरण कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किए थे.

इसको लेकर शपथ ग्रहण के 24 घंटे के भीतर ही मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा था, ''मैंने आज आरे मेट्रो कार शेड परियोजना के काम को रोकने का आदेश दिया है. मेट्रो का काम नहीं रुकेगा, लेकिन अगले निर्णय तक आरे का एक भी पत्ता नहीं कटेगा.'' ठाकरे ने कहा, ''मैं पहला मुख्यमंत्री हूं जो मुंबई में पैदा हुआ. यह मेरे दिमाग में चल रहा है कि मैं शहर के लिए क्या कर सकता हूं.''

हिरासत में लिया गया था
मालूम हो कि मुंबई मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एमएमआरसीएल) ने मुंबई की आरे कॉलोनी में 40 घंटों से भी कम समय में स्वीकृत 2,185 में से 2,141 पेड़ काट डाले थे. अक्टूबर माह में इसका विरोध करने वाले पर्यावरण कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया था. आरे में पेड़ों की कटाई का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा, जहां शीर्ष न्यायालय ने पेड़ काटने पर रोक लगा दी थी और आंदोलनकारियों को रिहा करने के आदेश दिए थे. इस मामले में 21 अक्टूबर तक यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया था. हालांकि तब तक 80 फीसदी पेड़ कटे जा चुके थे. इस मामले में 16 नवंबर को अपनी एक सुनवाई में अदालत की दो सदस्यीय बेंच ने फैसले की अवधि को बढ़ाते हुए अगले महीने फिर सुनवाई करने की बात कही.

फडणवीस ने उठाए सवाल
मेट्रो प्रोजेक्ट पर रोक लगाने को लेकर राज्य के पूर्व सीएम और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने निशाना साधा. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार मुंबई में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के बारे में गंभीर नहीं है. इससे मुंबईवासियों का ही नुकसान होगा.