close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र सरकार ने जारी किया विदर्भ, मराठवाड़ा, उत्तर महाराष्ट्र के लिए 21,222 करोड़ रुपये का पैकेज

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि पैकेज उन लोगों को एक जवाब है, जो नागपुर विधानमंडल में मानसून सत्र करने के उद्देश्य पर सवाल उठा रहे थे.

महाराष्ट्र सरकार ने जारी किया विदर्भ, मराठवाड़ा, उत्तर महाराष्ट्र के लिए 21,222 करोड़ रुपये का पैकेज
मुंगतीवर ने कहा कि इन वर्षों के दौरान पूर्ववर्ती शासनों (कांग्रेस-राकांपा) के दौरान विदर्भ और मराठवाड़ा पिछड़े रहे.(फाइल फोटो)

नागपुर: भाजपा नीत महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के पिछड़ों क्षेत्रों विदर्भ, मराठवाड़ा और उत्तर महाराष्ट्र के लिए आज 21,222 करोड़ रूपये के विशेष पैकेज की घोषणा की. वित्त मंत्री सुधीर मुंगतीवार ने शुक्रवार को विधानसभा को बताया कि सरकार अगले डेढ़ वर्षों में इसके क्रियान्वयन की निगरानी के लिए नागपुर में एक विशेष 'इकाई' की स्थापना करेगी. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि पैकेज उन लोगों को एक जवाब है, जो नागपुर विधानमंडल में मानसून सत्र करने के उद्देश्य पर सवाल उठा रहे थे. उन्होंने कहा कि यह बहुत समयबद्ध कार्यक्रम है. आपने सवाल किया कि मानसून सत्र नागपुर में आहूत क्यों किया गया. इसे विदर्भ और मराठवाड़ा का विकास सुनिश्वित करने के लिए आहूत किया गया जो आपके कार्यकाल के दौरान नहीं हुआ.

मराठवाड़ा और विदर्भ के तेज विकास के लिए पैकेज
मुंगतीवर ने कहा कि इन वर्षों के दौरान पूर्ववर्ती शासनों (कांग्रेस-राकांपा) के दौरान विदर्भ और मराठवाड़ा पिछड़े रहे, इसलिए हम मराठवाड़ा और विदर्भ के तेज विकास के लिए पैकेज की घोषणा कर रहे हैं. उन्होंने कोंकण और अन्य पिछड़े क्षेत्रों के लोगों को भी भरोसा दिलाते हुए कहा कि उनकी चिंताओं का समाधान किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में उद्योग, सिंचाई सुविधाओं, कृषि और पर्यटन के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा. 

एक नया सरकारी दूध ब्रांड 'गोंडवाना' लाया जाएगा- मुंगतीवर
उन्होंने बताया कि इस पैकेज के हिस्से के रूप में एक दूध संग्रह नेटवर्क और प्रसंस्करण सुविधाओं का निर्माण किया जाएगा. मुंगतीवार ने कहा कि महानंद ब्रांड की तर्ज पर एक नया सरकारी दूध ब्रांड 'गोंडवाना' बनाया जाएगा. साथ ही गढ़चिरौली जिले में इस ब्रांड के नाम के तहत उत्पादों का निर्माण करने के लिए एक संयंत्र स्थापित किया जाएगा. मुंगतीवर ने कहा कि औरंगाबाद में एक 'कौशल विश्वविद्यालय' बनाया जाएगा. साथ ही विदर्भ और मराठवाड़ा के सभी 19 जिलों में हॉस्टल बनाए जाएंगे. 

(इनपुट भाषा से)