close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गाड़ी चलाते हुए शख्स को आया हार्ट अटैक, ट्रैफिक पुलिस के जवान ने फरिश्ता बनकर बचाई जान

ऐसा ही एक वाकया महाराष्ट्र के ठाणे में हुआ. यहां के खारीगांव टोल बूथ के पास ड्यूटी पर तैनात कॉन्स्टेबल ने जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे एक शख्स की जान बचा  ली. पुलिस के अनुसार, ये वाकया उस समय हुआ, जब पंडारीनाथ मुंडे ड्यूटी पर तैनात थे.

गाड़ी चलाते हुए शख्स को आया हार्ट अटैक, ट्रैफिक पुलिस के जवान ने फरिश्ता बनकर बचाई जान

ठाणे : ट्रैफिक पुलिस सिर्फ शहर का यातायात ही नहीं दुरुस्त रखती, बल्कि कई बार वह लोगों की जिंदगी भी बचाती है. ऐसा ही एक वाकया महाराष्ट्र के ठाणे में हुआ. यहां के खारीगांव टोल बूथ के पास ड्यूटी पर तैनात कॉन्स्टेबल ने जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे एक शख्स की जान बचा  ली. पुलिस के अनुसार, ये वाकया उस समय हुआ, जब पंडारीनाथ मुंडे ड्यूटी पर तैनात थे. तभी उन्होंने देखा कि एक व्यक्ति को हार्ट अटैक आया है. वह उस समय गाड़ी में था. इसके बाद मुंडे उसके पास गए, उसे गाड़ी के पिछली सीट पर लिटाया और खुद गाड़ी ड्राइव कर उसे पास के हॉस्पिटल में पहुंचाया. ये वाकया बुधवार दोपहर को हुआ.

ठाणे पुलिस प्रवक्ता सुखदा नारकार के मुताबिक, 23 वर्षीय निखिल तंबोले अपने पिता के साथ ठाणे से दूर पडघा से आ रहे थे. जब वह ठाणे के खारीगांव टोल बूथ पर पहुंचे, उसी समय उन्हें मेजर हार्ट अटैक आया. जैसे ही मुंडे ने तंबोले को इस हालत में देखा, उन्होंने बिना समय गंवाए, उन्हें पीछे की सीट पर लिटा दिया.

गाय, बिल्ली और लंगूर- ये हैं पक्षियों के नाम, पर्यावरण मंत्रालय की वेबसाइट तो यही कहती है

इसके बाद मुंडे खुद गाड़ी चलाकर उन्हें ठाणे के जूपिटर हॉस्पिटल पहुंचे. इसके बाद उनका अब तक वहां इलाज चल रहा है. पुलिस के अनुसार, तंबोले की हालत अभी स्थिर है. उनका ट्रीटमेंट जारी है. डीसीपी ट्रेफिक अमित काले ने मुंडे को उनके इस काम के लिए बधाई दी है.