close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डिजिटल इंडिया के नाम पर लगवाता था सरकारी नौकरी, लोगों से ठग लिए करोड़ों रुपए

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना के बोंगाओं से मुख्य आरोपी राजा मित्रा को बिधान नगर साइबर थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

डिजिटल इंडिया के नाम पर लगवाता था सरकारी नौकरी, लोगों से ठग लिए करोड़ों रुपए
बागुइहाटी इलाके में एक महिला ने बिधान नगर साइबर क्राइम थाने में इस मामले की शिकायत की थी.

कोलकाता: भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना डिजिटल इंडिया के लोगो (प्रतीक चिह्न) का इस्तेमाल करके पश्चिम बंगाल में ठगी करने का एक मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि एक फर्जी वेबसाइट पर डिजिटल इंडिया का लोगो (प्रतीक चिह्न) लगाकर करोड़ों रूपए की ठगी को अंजाम दिया गया है. पुलिस ने ठगी के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल, पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना के बोंगाओं से मुख्य आरोपी राजा मित्रा को बिधान नगर साइबर थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि आरोपी ने डिजिटल इंडिया के लोगो (प्रतीक चिह्न) का इस्तेमाल करके फर्जी वेबसाइट बनाई थी. इसके जरिये वह सरकारी स्कूलों में शिक्षक और सहायक पद की नौकरी का विज्ञापन देता था. इसमें दो नकली वेबसाइट और एक टोल फ्री नंबर का उल्लेख रहता था.

 

वहीं, किसी व्यक्ति द्वारा इस विज्ञापन को देखकर वेबसाइट पर जाने पर वहां नौकरी के लिए फॉर्म भरने का विकल्प दिखता था. इसमें क्लर्क की नौकरी के आवेदन के लिए 130 रूपए और अगर शिक्षक पद के आवेदन के लिए 180 रूपए देकर रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता था. बताया जा रहा है कि इस तरह करीब 82 हजार लोगों ने फर्जी वेबसाइट के जरिये रजिस्ट्रेशन फीस भरी.

बताया जा रहा है कि बागुइहाटी इलाके में एक महिला ने बिधान नगर साइबर क्राइम थाने में इस मामले की शिकायत की थी. इसके बाद जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि ऑनलाइन फ्रॉड कर एक व्यक्ति बैंक में पैसे ट्रांसफर कर रहा है. उसके बाद पुलिस आरोपी व्यक्ति की तलाश में जुट गई. आखिरकार सोमवार रात को बोंगाओं से इस मुख्य आरोपी राजा मित्रा को गिरफ्तार कर लिया गया. जांच में पता चला कि इस आदमी ने धोखाधड़ी कर के करीब 1 करोड़ 50 हज़ार रूपए लोगों से हथिया लिए हैं. आरोपी के 9 बैंक अकाउंट फ्रीज़ कर दिए गए हैं.