मेनका गांधी ने लगाया बीजेपी के मंत्री पर बाघिन की हत्या का आरोप, 'दोषी को छोड़ूंगी नहीं'

केन्‍द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका ने महाराष्‍ट्र में मानवभक्षी घोषित की गई ‘अवनि’ नामक बाघिन को मारे जाने को लेकर वहां के एक मंत्री पर उंगली उठाई. हालांकि अभी उन्‍होंने उनका नाम बताने से इनकार किया.

मेनका गांधी ने लगाया बीजेपी के मंत्री पर बाघिन की हत्या का आरोप, 'दोषी को छोड़ूंगी नहीं'

पीलीभीत (उप्र) : केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने महाराष्ट्र सरकार के एक मंत्री पर कथित आदमखोर बाघिन की हत्‍या करने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि वह इस मामले में सख्‍त कार्रवाई करवाकर ही दम लेंगी. केन्‍द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका ने भाजपा के एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बातचीत में महाराष्‍ट्र में मानवभक्षी घोषित की गई ‘अवनि’ नामक बाघिन को मारे जाने को लेकर वहां के एक मंत्री पर उंगली उठाई. हालांकि अभी उन्‍होंने उनका नाम बताने से इनकार किया.

मेनका का कहना है कि जब वन विभाग नहीं चाहता था तो फिर आतंकवादियों को हथियारों की आपूर्ति करने वालों को सरकार के एक मंत्री की शह पर बुलाकर बाघिन की हत्या क्‍यों करवाई गयी. वह इसकी सचाई उजागर करके ही रहेंगी. गौरतलब है कि महाराष्ट्र स्थित नागपुर के बारोती वन क्षेत्र में पिछले तीन बर्षों से अवनि नाम की बाघिन का आतंक फैला था. ऐसा दावा है कि अवनि ने करीब 13 लोगों को अपना शिकार बनाया था. तमाम प्रयासों के बावजूद अवनि को पकड़ा नहीं जा सका. शनिवार 3 नंवबर 2018 को उसे मार गिराया गया.

वन्‍यजीव संरक्षण की पैरोकार मेनका ने साफ कहा कि महाराष्‍ट्र सरकार के उस मंत्री ने हैदराबाद के शार्प शूटर और आतंकवादियों को हथियारों की आपूर्ति करने वाले मशहूर शिकारी शहाफत अली से सम्पर्क किया. अली ने अपने बेटे असगर अली को भेजकर बाघिन की हत्या करवाई. नागपुर का वन विभाग नहीं चाहता था कि बाघिन को मारा जाए, लेकिन मंत्री ने इन अपराधियों को बुलवाकर अवनि की हत्या करवा दी.

उन्होंने कहा कि वह अब पूरे प्रकरण की शिकायत मुख्यमंत्री से करेंगीं. दोषी चाहे कोई मंत्री ही क्यों न हो लेकिन वह सख़्त कार्रवाई करवाकर ही दम लेंगी.