जयपुर: रोडवेज अधिकारियों के ट्रांस्फर के साथ कई योजनाए बंद,किराए में भी बढोतरी

जयपुर रोडवेज के तबादले के साथ ही पुरानी योजनाओं को बंद करना शुरु कर दिया है. पूर्व एमडी शुची शर्मा के तबादले के साथ ही फ्लैग्सी योजना को ऩए एमडी ने पद संभालते ही बंद कर दिया है. इन योजनाओं  के बंद होते ही किराए बढोतरी से यात्रियों पर बोझ बढ़ गया है.

जयपुर: रोडवेज अधिकारियों के ट्रांस्फर के साथ कई योजनाए बंद,किराए में भी बढोतरी
अधिकारियों के ट्रांस्फर के साथ कई योजनाए बंद की गई हैं

दामोदर प्रसाद,जयपुर: रोडवेज विभाग में अधिकारियों के ट्रांसफर होते ही योजनाओं के पंख भी काटे जा रहे हैं. रोडवेज की पूर्व एमडी शुची शर्मा के तबादले के साथ ही फ्लैग्सी योजना को बंद कर दिया गया है. इस योजना की शुरुआत घाटे से जूझ रही जयपुर रोडवेज को उबारने के लिए की गई थी. जिसमें साधारण और वोल्वो बसों में किराए में राहत देकर यात्रियों को लुभाने की कोशिश थी. योजनाओं के बंद होने पर इसका सीधा असर यात्रियों की संख्या और उनकी जेब पर नजर आएगा

दरअसल रोडवेज की फ्लैग्सी योजना को पूर्व एमडी शुची शर्मा  द्वारा चालू किया गया था.लेकिन पूर्व एमडी का ट्रांसफर हो जाने के बाद नए एमडी आलोक ने पदभार संभालते ही इस योजना को बंद कर दिया है. पूर्व एमडी शुची शर्मा ने रोडवेज बसों में यात्री संख्या को बढाने के लिए इस योजना की शुरुआत की थी. जिससे रोडवेज की हालत को सुधारा जा सके.इस योजना के तहत ही दिल्ली जयपुर रुट पर किराया कम किया गया था.

जाहिर है त्यौहारी सीजन में किराया बढ़ने से सीधा असर यात्रियों पर पड़ने जा रहा है. साथ ही निजी बस चालकों को इसका सीधा फायदा होगा. हालाकी जिन यात्रियों के पहले से टिकट बुक हैं उन्हें इससे नुकसान नहीं है,लेकिन आज से ऩए टिकट लेने वाले लोगों को बढ़ी हुई दरें देनी होंगी