close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जो भी हाथ आर्टिकल 35A से छेड़छाड़ को उठेगा, वो हाथ ही नहीं, जिस्‍म भी जलकर राख हो जाएगा : महबूबा मुफ्ती

पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार कश्‍मीर को पूरी तरह से बर्बाद करने पर तुली हुई है. कश्‍मीरियों को अपना संविधान बचाना होगा. 

जो भी हाथ आर्टिकल 35A से छेड़छाड़ को उठेगा, वो हाथ ही नहीं, जिस्‍म भी जलकर राख हो जाएगा : महबूबा मुफ्ती
महबूबा मुफ्ती का विवादित बयान. फोटो ANI

नई दिल्‍ली : पीडीपी अध्‍यक्ष और जम्‍मू-कश्‍मीर की पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने रविवार को आर्टिकल 35A को लेकर विवादित टिप्‍पणी की है. उन्‍होंनें केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आर्टिकल 35A के साथ छेड़छाड़ करना मतलब बारूद को हाथ लगाने जैसा है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जो हाथ 35A के साथ छेड़छाड़ करने के लिए उठेंगे, वो हाथ ही नहीं पूरा जिस्‍म ही जलकर राख हो जाएगा.

देखें LIVE TV

पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार कश्‍मीर को पूरी तरह से बर्बाद करने पर तुली हुई है. कश्‍मीरियों को अपना संविधान बचाना होगा. जम्‍मू और कश्‍मीर बैंक को खत्‍म कर दिया गया. सरकारें आएंगी और जाएंगी लेकिन कश्‍मीर को सुरक्षित रहना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि हम जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा दिलाकर रहेंगे.

बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षा के लिहाज से तैनात किए गए 10 हजार अतिरिक्‍त सुरक्षाबलों को लेकर पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को निशाना साधा था. महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को ट्वीट कर कहा था कि केंद्र सरकार की ओर से कश्‍मीर घाटी में की गई 10 हजार जवानों की अतिरिक्‍त तैनाती से लोगों में डर व्‍याप्‍त हो रहा है.

उन्‍होंने कहा कि कश्‍मीर घाटी में वैसे भी सुरक्षाबलों की कोई कमी नहीं है. जम्‍मू-कश्‍मीर राजनीतिक समस्‍या है, सेना इसका हल नहीं है. केंद्र सरकार को इस मामले में दोबारा विचार करने और अपनी नीतियों में बदलाव करने की जरूरत है.