close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झुंझुनूं में बदमाशों ने बेखौफ होकर की ज्वैलरी शॉप पर लूटपाट, मामला दर्ज

वारदात के लिए इस्तेमाल में लाई गई कार को छोड़कर लुटेरे फरार हो गए, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है.

झुंझुनूं में बदमाशों ने बेखौफ होकर की ज्वैलरी शॉप पर लूटपाट, मामला दर्ज
बदमाशों ने बंदूक की नोक पर लूट की वरदात को अंजाम दिया.

संदीप केड़िया/झुंझुनूं: राजस्थान में कानून व्यवस्था को लेकर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं. प्रदेश में लगातार लूट, बच्चा चोर के नाम पर मॉब लिंचिंग जैसी घटनाएं बढ़ती जा रही हैं. कई संभागों में कानून व्यवस्था को लगातार बदमाशों के पैरों तले रौंदा जा रहा है. इसी कड़ी में शहर के कोतवाली थाना इलाके की रोड नंबर 3 पर प्रकाश ज्वैलर्स में रविवार को लूट की वारदात सामने आई. 

खबर के मुताबिक, तीन बदमाश दिन-दहाड़े दुकान में घुस गए. जिसके बाद बदमाशों ने बंदूक की नोक पर लूट की वरदात को अंजाम दिया और बेखौफ होकर फरार हो गए. जब दुकानदार ने इसका विरोध किया तो उसे बदमाशों ने गोली मारी दी. 

वहीं, यह पूरी घटना दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे कैद हो गई. सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और अपनी तफ्तीश जारी की. मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस को शुरूआती जांच में एक कार्ड बरामद हुआ है, जो शातिर बदमाश योगेश चारणवासी का बताया जा रहा है.

साथ ही, वारदात के लिए इस्तेमाल में लाई गई कार को छोड़कर लुटेरे फरार हो गए, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है. पुलिस ने जब कार के नंबर के आधार पर पड़ताल शुरू की तो सामने आया कि जिस व्यक्ति के नाम पर यह कार है, उसे वह आबूसर निवासी अमर सिंह बेच चुका था.

अब पुलिस इस प्वाइंट के आधार पर आगे की कार्रवाई में जुट गई है, लेकिन जिस तरीके से यह लूट की घटना पेश आई है वह पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर रही है. गौरतलब है कि, राजस्थान की कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष के अलावा प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और कांग्रेस के नेता अविनाश पांड़े भी चिंता जाहिर कर चुके हैं. 

बता दें कि हाल ही में उदयपुर के मादडी इलाके में आज बदमाशों ने दिन दहाड़े बैंक में लूट की वारदात को अंजाम दिया. लूट की वारदात को अंजाम देने आए बदमाश बंदूक की नोक पर बैंक से 19 लाख 72 हजार की नकदी लूट की फरार हो गए. इस घटना ने एक बार फिर उदयपुर में पुलिसिया सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी.