close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर: सेंट्रल जेल से फिर बरामद हुए 6 मोबाइल और 5 सिम, तफ्तीश शुरू

इस मामले में जेल प्रशासन ने बैरक नंबर एक ग्यारह बारह से मोबाइल को जब्त कर सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई है.

अजमेर: सेंट्रल जेल से फिर बरामद हुए 6 मोबाइल और 5 सिम, तफ्तीश शुरू
पुलिस ने इस मामले में शिकायत दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है.

अशोक सिंह भाटी, अजमेर: जिले की सेंट्रल जेल (Central Jail) में एक बार फिर कड़ी सुरक्षा और चेकिंग के बावजूद 6 मोबाइल में 5 सिम बरामद हुए हैं. इनमें से तीन मोबाइल एंड्राइड बताए जा रहे हैं, जिनसे कैदी सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं. वहीं तीन मोबाइल सादे हैं, जिनसे बातचीत की जा रही थी. फिलहाल इस मामले में जेल प्रशासन ने बैरक नंबर एक ग्यारह बारह से मोबाइल को जब्त कर सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई है.

पुलिस ने इस मामले में शिकायत दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है. सवाल यही उठे हैं कि आखिरकार जेल में इतनी कड़ी सुरक्षा के बावजूद भी सिम और मोबाइल कैसे पहुंच रहे हैं और जेब में लगे होने के बाद भी मोबाइल काम क्यों कर रहे हैं? 

जेल में बंद हैं कई नामचीन कैदी
सेंट्रल जेल में कई नामचीन कैदी बंद हैं, जिनकी वीडियो और फोटो कई बार सोशल मीडिया पर नजर भी आई है. साथ ही जेल से अवैध वसूली का काम भी चलाया जा रहा था, जिसे लेकर दबिश देकर बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया था. इसमें अट्ठारह मोबाइल के साथ 11 आरोपी गिरफ्तार किए गए थे. इसके बावजूद भी जेल में बड़ी तादाद में मोबाइल और सिम बरामद किए जाना यही संकेत दे रहा है कि जेल में केवल कैदियों का राज चलता है. प्रशासन केवल मूकदर्शक बनकर तमाशा देखता है.

जेल के अंदर से होती हैं आपराधिक गतिविधियां
जेल में लगातार सिम और मोबाइल मिलने के मामले में कई बार मुकदमे दर्ज किए गए लेकिन ठोस कार्रवाई के नाम पर केवल मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया जाता है. इसके चलते जेल के कैदियों के हौसले बुलंद हैं और जेल में बैठे-बैठे ही कैदी तमाम ऐसी गतिविधियां करते हैं, जो अपराध की श्रेणी में आती हैं.