मुंबई: केईएम अस्पताल में झुलसने से 2 माह के बच्चे की मौत

केईएम अस्पताल में 7 नवंबर को हादसा हुआ था. आईसीयू में 2 माह के प्रिन्स की बेड के पास ईसीजी मशीन में शॉर्ट सर्किट होन से हादसा हुआ था. इस शॉर्ट सर्किट में बेड जल गया था. 

मुंबई: केईएम अस्पताल में झुलसने से 2 माह के बच्चे की मौत
मुंबई के केईएम अस्पताल में आगजनी.

बागेश्री कानडे, मुंबई: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के केईएम अस्पताल में आईसीयू में आग लगने से झुलसे दो माह के बच्चे प्रिंस की झुलसकर मौत हो गई है. गुरुवार को इन्फेक्शन की वजह से उसकी तबीयत बिगडी थी. शुक्रवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से उसने दम तोड दिया. बुधवार से उसे वेंटिलिटर पर रखा गया था. केईएम अस्पताल में 7 नवंबर को हादसा हुआ था. आईसीयू में 2 माह के प्रिन्स की बेड के पास ईसीजी मशीन में शॉर्ट सर्किट होन से हादसा हुआ था. इस शॉर्ट सर्किट में बेड जल गया था. 

इस हादसे में 2 माह के प्रिन्स का एक कान और हाथ झुलस गया था. लगभग 15 से 20 फिसदी बच्चा झुलस गया था. प्रिन्स का तुरंत ईलाज किया गया, लेकिन झुलसे हुए उसके हाथ में इन्फेक्शन के चलते सर्जरी करके हाथ काटना पड़ा था. प्रिंस के दिल में छेद था, जिसके इलाज के लिए उसके माता-पिता उसे वाराणसी से मुंबई लेकर आए थे, लेकिन इलाज शुरू होता उससे पहले ही यह हादसा हो गया.

बीएमसी ने बच्चे के अभिभावकों को पांच लाख रुपये के मुआवजे का प्रस्ताव दिया था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था. इसके बाद बुधवार को नगर निकाय ने प्रिंस के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजे का प्रस्ताव दिया.

पीड़ित प्रिन्स के पिता पन्नेलाल राजभर बताते हैं, 'हम प्रिन्स को लेकर वाराणसी से मुंबई आए. ताकी बेहतर ईलाज हो सके. मेरी बहन मुंबई के वडाला में रहती है. यहां से परेल का केईएम अस्पताल नजदीक है. इसलिए हम मुंबई में आए है. इस हादसे के बाद मुझे 5 लाख की मदद का ऐलान हुआ. बाद में 10 लाख रुपए मदद के रूप में दिया गया. मुझे पैसे नहीं चाहिए.'

ये भी देखें-: