महाराष्ट्र में शिवसेना-NCP और कांग्रेस ने BJP का बना-बनाया बिगाड़ा खेल, जानिए कैसे?

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए जारी सियासी संघर्ष के बीच भारतीय जनता पार्टी ने मुंबई में मेयर का चुनाव न लड़ने की घोषणा की है. 

महाराष्ट्र में शिवसेना-NCP और कांग्रेस ने BJP का बना-बनाया बिगाड़ा खेल, जानिए कैसे?
बता दें कि बीएमसी में ढाई-ढाई साल के लिए दो बार मेयर चुना जाता है.(फाइल फोटो)

मुंबई: देश के सबसे अमीर नगर निकाय बृहन्मुंबई महानगरपालिका के मेयर पद के लिए शिवसेना उम्मीदवार किशोरी पेडनेकर ने सोमवार को अपना नामांकन दाखिल किया. गौरतलब है कि बीएमसी के मौजूदा महापौर विश्वनाथ म्हाड़ेश्वर का कार्यकाल 7 दिसंबर को खत्म हो रहा है जिसे देखते हुए नए महापौर के चयन के लिए 22 नवंबर को चुनाव कराए जाएंगे. महापौर के लिए होने वाले चुनाव के लिए नामांकन करने की अंतिम तारीख 18 नवंबर थी.

वहीँ महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए जारी सियासी संघर्ष के बीच भारतीय जनता पार्टी ने मुंबई में मेयर का चुनाव न लड़ने की घोषणा की है. भाजपा नेता आशीष शेलार ने कहा कि उनकी पार्टी मेयर का चुनाव नहीं लड़ेगी क्योंकि उनके पास संख्या बल नहीं है, इसके साथ ही भाजपा किसी भी विपक्षी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करना चाहती है. शेलार ने कहा कि 2022 में पार्टी के पास खुद की संख्या होगी.

बता दें कि बीएमसी में ढाई-ढाई साल के लिए दो बार मेयर चुना जाता है. मौजूदा वक्त में बीएमसी के कुल 227 पार्षदों में शिवसेना के 94 पार्षद हैं जिनमें एमएनएस के 7 और निर्दलीय के 3 पार्षद भी शामिल हैं जो चुनाव के बाद शिवसेना में शामिल हुए थे. इसके अलावा बीजेपी के पास 83, कांग्रेस के 29, एनसीपी के 8 और समाजवादी पार्टी के 6 पार्षद हैं.