close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पंजाब: NIA ने इंपोर्टरों से की पूछताछ, पाकिस्तान से आने वाले सामान की मांगी लिस्ट

आईसीपी अटारी से बरामद 532 किलोग्राम हेरोइन के अलावा दिल्ली में 200 किलो हेरोइन की बरामदगी के बाद केंद्र सरकार ने इन दोनों मामलों को नार्को टेरर से जुड़ा हुआ माना है.

पंजाब: NIA ने इंपोर्टरों से की पूछताछ, पाकिस्तान से आने वाले सामान की मांगी लिस्ट
पुलवामा हमले के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान से आने वाले सभी उत्पादों पर दो सौ फीसदी ड्यूटी लगा दी थी.

अमृतसर: नमक की खेप में 532 किलो हेरोइन भेजे जाने के मामले में एनआईए के दिल्ली और चंडीगढ़ से पहुंचे सीनियर अधिकारियों ने अपनी जांच शुरू कर दी है. इस संबंध में एनआईए के अधिकारियों ने आईसीपी अटारी पर जाकर इम्पोर्टरों से पूछताछ की. इनसे पाकिस्तान से मंगवाए जाने वाले सामान और डीलरों की लिस्ट भी मांगी गई है. इस दौरान कस्टम कमिश्नर सहित अन्य सीनियर अधिकारियों के अलावा पंजाब पुलिस भी मौजूद रही. टीम ने आईसीपी पर काम करने वाले कस्टम क्लीयरेंस एजेंटों व अन्य के बारे में भी जानकारी हासिल की. यह भी जाना कि कौन-कौन से लोग कितने सालों से आईसीपी पर काम कर रहे हैं.

आईसीपी अटारी से बरामद 532 किलोग्राम हेरोइन बरामदगी मामले के अलावा दिल्ली से बरामद 200 किलो हेरोइन के साथ अफगानी नागरिकों की गिरफ्तारी के बाद केंद्र सरकार ने इन दोनों मामलों को नार्को टेरर से जुड़ा हुआ माना और फिर इन दोनों मामलों की जांच एनआईए के हवाले की गई है. बताया जा रहा है कि एनआईए के अधिकारियों ने अमृतसर पहुंच कर अपनी जांच शुरू कर दी है. इस दौरान एनआईए के अधिकारियों ने आईसीपी पर भारतीय ट्रेडरों के साथ बात की और उनसे यह जानकारी हासिल की कि वे कौन से कौन उत्पाद पाकिस्तान और अफगानिस्तान से मंगवाते हैं. 

हालांकि, पुलवामा हमले के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान से आने वाले सभी उत्पादों पर दो सौ फीसदी ड्यूटी लगा दी थी, जिस कारण पाकिस्तान से सिर्फ नमक का कारोबार हो रहा था और अफगानिस्तान से ड्राइफ्रूट मंगवाया जा रहा था. नमक और ड्राइफ्रूट की कंसाइंमेंट में हेरोइन की तस्करी के खुलासे के बाद अब एनआईए इस मामले की जांच करने में जुट गई है. बताया जा रहा है कि आईसीपी पर काम करने वाले कई कुलियों से भी पूछताछ की गई है. दूसरी तरफ आईसीपी के गोदामों में पाक इंपोर्टेड सामान की 100 फीसदी जांच की जा रही है. 

पाकिस्तान के रास्ते अफगानिस्तान से आने वाले ड्राइफ्रूट के भी एक-एक डिब्बे को खोल कर देखा जा रहा है. टीम के अधिकारियों ने गुरुवार को आईसीपी से कुछ रिकॉर्ड अपने साथ भी ले गए थे. इस दौरान आईसीपी पर काम करने वाली एजेंसी एलपीए और कस्टम सहित अन्य विभागों के अधिकारियों से भी पूछताछ की थी. कुछ एक के बयान भी लिए थे. उधर गोदाम में रखी एक-एक बोरी और डिब्बे की चेकिंग पर ही लाखों रुपये मजदूरी आने की संभावना है. यह मजदूरी कौन देगा, इसके बारे में अभी तक साफ नहीं. 

वहीं दूसरी तरफ इंपोर्टरों से कहा जा रहा है कि उनके सामान की चेकिंग पर आने वाली लेबर उन्हें ही अदा करनी होगी. दूसरी तरफ कस्टम विभाग के एक सीनियर अधिकारियों ने आईसीपी पर चेकिंग पर चुप्पी साध रखी है. हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि नार्को टेरर के इस मामले में अब एनआईए कस्टम और अमृतसर पुलिस की ओर से गिरफ्तार आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर सकती है, ताकि भारत में बैठे नशीले पदार्थों की नेटवर्क के किंगपिन तक पहुंचा जा सके.