close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एक हजार किलोमीटर से ज्यादा दूरी तय करनी वाली 342 जोड़ी ट्रेनों में नहीं है पैंट्री कार

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि जिन ट्रेनों में पैंट्री कार नहीं हैं, उनमें ट्रेन साइड वेडिंग, ई-कैटरिंग सेवाओं आदि के जरिए सुविधा मुहैया कराई जा रही है.

एक हजार किलोमीटर से ज्यादा दूरी तय करनी वाली 342 जोड़ी ट्रेनों में नहीं है पैंट्री कार
फाइल फोटो @RailMinIndia)

नई दिल्ली: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि एक हजार किलोमीटर से ज्यादा दूरी तय करने वाली 342 जोड़ी ट्रेनों में भोजन यान (पैंट्री कार) नहीं हैं.
पीयूष गोयल ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी.

पीयूष गोयल ने कहा कि जिन ट्रेनों में पैंट्री कार नहीं हैं, उनमें ट्रेन साइड वेडिंग, ई-कैटरिंग सेवाओं आदि के जरिए सुविधा मुहैया कराई जा रही है. उन्होंने बताया कि 1256 जोड़ी ट्रेनों में खान-पान सेवाएं प्रदान की जा रही हैं.

रेलवे ट्रैक खराबी के कारण हुए 17 हादसे 
रेल मंत्रालय ने कहा है कि 2018-19 में कुल 59 रेल हादसों में 17 हादसे रेलवे ट्रैक में खामियों के कारण हुए.  रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि 2015-16 में रेलवे ट्रैक की गड़बड़ी के कारण हादासों की संख्या 20 थी और इसके अगले साल यहि बढ़कर 34 हो गयी. 

उन्होंने बताया कि 2018-19 में इन हादसों में कमी दर्ज करते हुये इनकी संख्या 17 पर आ गयी है. गोयल ने रेल मंत्रालय ने यात्री सुरक्षा को अपनी प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर रखा है. उन्होंने बताया कि यात्री सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिये जाने के कारण रेल हादसों की संख्या 2014-15 में 135 से घटकर 2018-19 में 59 पर आ गई.