close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तिहाड़ में बेचैनी में गुजरी चिदंबरम की पहली रात, जमीन पर सोए, नाश्ते में मिले चाय और बिस्कुट

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की पहली रात बेचैनी में गुजरी. वह आम कैदियों की तरह ज़मीन पर ही सोए. सोने से पहले उन्होंने दवाई खाई. उनको सोने के लिए चादर और तकिया दिया गया. 

तिहाड़ में बेचैनी में गुजरी चिदंबरम की पहली रात, जमीन पर सोए, नाश्ते में मिले चाय और बिस्कुट
पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की पहली रात बेचैनी में गुजरी. वह आम कैदियों की तरह ज़मीन पर ही सोए. सोने से पहले उन्होंने दवाई खाई. उनको सोने के लिए चादर और तकिया दिया गया. 

चिदंबरम को जेल नम्बर 7 की वार्ड नंबर 2 के 15 नंबर सेल में रखा गया है. 7 नंबर जेल में दो तरह के सेल है एक सेल में 1 कैदी रहता है जबकि दूसरे सेल में 3 कैदी. 7 नंबर जेल में ही कार्ति चिदंबरम और रतुल पुरी समेत क्रिस्टियन मिशेल भी रहा है.

सुबह खाए चाय और बिस्कुट
चिदंबरम ने सुबह चाय और बिस्कुट खाए है. उनसे अधिकतम 10 लोग हफ्ते में 2 बार सुबह 8 बजे से 1:30 बजे तक मिल सकते है. खाने में उन्हें रोटी सब्ज़ी, दाल चावल दिए जाएंगे.

यह होता है जेल का टाइम टेबल
जेल में 11:30 बजे तक लंच दिया जाता है, उसके बाद 12:30 बजे से 3:30 बजे तक उन्हें सेल में बंद कर दिया जाता है. 3:30 बजे के बाद बाहर आकर बाकी कैदियों के साथ खेलने, लाइब्रेरी में जाकर किताब पढ़ने की अनुमति होती है. शाम 6.45 डिन्नर दिया जाता है. 9 बजे तक टीवी देखने की अनुमति होती है. 9 बजे के बाद वापस सेल में बंद कर दिया जाता है.

सीबीआई हिरासत में चिदंबरम ने दिए 400 सवालों के जवाब
पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सीबीआई (केंद्रीय जांच ब्यूरो) की हिरासत में 400 से अधिक सवालों के जवाब दिए हैं.  एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि 21 अगस्त को आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार हुए चिदंबरम से मामले से जुड़े चार से पांच गवाहों के समक्ष बैठाकर पूछताछ की गई. उन पर कथित तौर पर अपने कार्यकाल के दौरान एफआईपीबी (फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड) के जरिए कुछ मामलों में मंजूरी दिलाने के आरोप लगे हैं.

आईएनएक्स मीडिया मामले में जांच से जुड़े एक सीबीआई के सूत्र ने बताया, 'मामले में चार से पांच गवाहों और आरोपियों के साथ चिदंबरम का सामना किया गया था.' हालांकि, सूत्र ने नामों को साझा करने से इनकार कर दिया, क्योंकि इससे मामले की जांच प्रभावित हो सकती है. सूत्र ने यह भी कहा कि सीबीआई की हिरासत में 21 अगस्त से रहे चिदंबरम ने 400 से अधिक सवालों के जवाब दिए.

सूत्र ने बताया कि चिदंबरम से पूछे गए अधिकांश सवाल उनके बेटे कार्ति चिदंबरम के शतरंज प्रबंधन प्राइवेट लिमिटेड और एडवांटेज स्ट्रेटेजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड (एएससीपीएल) से जुड़े संबंधों को लेकर थे. इसके अलवा आईएनएक्स मीडिया की सह-संस्थापक इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी के साथ उनके व्यवहार को लेकर भी चिदंबरम से सवाल पूछे गए.

सूत्र ने बताया कि वित्तमंत्री रहते हुए अपने कार्यकाल में फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) के माध्यम से आईएनएक्स मीडिया ग्रुप को विदेशों से 305 करोड़ रुपये के फंड को अप्रुवल दिलाने को लेकर पूछ गए सवालों के जवाब में ऐसे कई अवसर आए, जब चिदंबरम ने इस से जुड़े सवालों के जवाब देने के लिए घंटों समय लिया और समय निकालने की कोशिश की.

पिछले साल इंद्राणी मुखर्जी ने सीबीआई को दिए अपने बयान में आरोप लगाया था कि कार्ति चिदंबरम ने 2007 में एफआईपीबी की मंजूरी दिलाने के बदले आईएनएक्स मीडिया से 3.5 करोड़ रुपये लिए थे. उसने यह भी आरोप लगया था कि कार्ति चिदंबरम ने नई दिल्ली के एक होटल में उससे मुलाकात की और कथित तौर पर एफआईपीबी की मंजूरी दिलाने के बदले 1 मिलियन डॉलर (6.5 करोड़) रुपये की मांग की थी.