close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्मू-कश्मीर पर बोले रामदास अठावले- 'POK को हमारे हवाले कर दे पाक, क्योंकि...'

'पीओके पर पाकिस्तान का कब्जा पूरी तरह से अवैध है और अगर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान अभी भी भारत से लड़ाई करना चाहते हैं तो एक बार फिर आरपार की लड़ाई होगी.'

जम्मू-कश्मीर पर बोले रामदास अठावले- 'POK को हमारे हवाले कर दे पाक, क्योंकि...'
केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि, 'पाकिस्तान हमेशा से ही भारत के खिलाफ साजिश करता आया है' (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने पर केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले का कहना है कि, 'पाकिस्तान हमेशा से ही भारत के खिलाफ साजिश करता आया है. जब भारत को आजादी मिली तब जम्मू कश्मीर के राजा हरी सिंह ने भारत के साथ रहने का फैसला किया था. ऐसे में पीओके पर पाकिस्तान का कब्जा पूरी तरह से अवैध है और अगर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान अभी भी भारत से लड़ाई करना चाहते हैं तो एक बार फिर आरपार की लड़ाई होगी. हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे और भारत पाकिस्तान से पीओके भी ले लेगा.'

रामदास अठावले ने आगे कहा कि 'पाकिस्तानी कलाकारों की फिल्में और उनका यहां काम करना ठीक नहीं है. पाकिस्तान हमेशा से ही नियम तोड़ता रहा है और हमले करवाता है. पाक के साथ कोई सम्बन्ध रखना अच्छी बात नहीं. अब जम्मू कश्मीर का बहुत बड़ा विकास होने वाली है. मोदी सरकार के एक फैसले के बाद घाटी में पत्थरबाजी पर भी लगाम लग गई है. इससे साबित होता है कि मोदी सरकार का यह फैसला सभी के हित का फैसला है. पाकिस्तान अगर भविष्य में बात करना चाहता है तो उसे पहले पीओके हमारे हवाले करना होगा, तभी कुछ बात होगी.'

देखें लाइव टीवी

जम्मू कश्मीर पर थम नहीं रही पाकिस्तान की बौखलाहट, अब लाहौर-दिल्ली बस सेवा रोकी

बता दें जम्मू-कश्मीर और लद्दाख 31 अक्टूबर को केंद्र शासित प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आएंगे. राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद गृह मंत्रालय ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है, जिसके तहत 31 अक्टूबर से जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया जाएगा और यह केंद्र शासित राज्य के रूप में स्थापित होगा.

इमरान खान ने ट्विटर पर उगला जहर, कहा- 'दुनिया देखेगी कर्फ्यू हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में क्या होता है'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन कानून को मंजूरी दे दी है. इसके तहत दो केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख 31 अक्टूबर से अस्तित्व में आ जाएंगे. 31 अक्टूबर देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती है, जिन्होंने आजादी के बाद 565 रियासतों का भारत गणराज्य में विलय कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.