कांग्रेस अध्यक्ष पद पर निर्णय में देरी से पार्टी को हुआ नुकसान: शशि थरूर

शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कहा कि बालाकोट एयर स्ट्राइक का भाजपा ने राजनीतिक लाभ लिया. कांग्रेस (Congress) ने इसका राजनीतिकरण नहीं किया.

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर निर्णय में देरी से पार्टी को हुआ नुकसान: शशि थरूर
ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस का इंडिया इन क्राइसिस विषय पर संवाद सत्र जयपुर के होटल क्लॉर्क्स आमेर में आयोजित हुआ

जयपुर: ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस (Congress) का इंडिया इन क्राइसिस विषय पर संवाद सत्र जयपुर के होटल क्लॉर्क्स आमेर में आयोजित हुआ. सत्र में AIPC के राष्ट्रीय अध्यक्ष शशि थरूर (Shashi Tharoor) और कांग्रेस (Congress) प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) का संवाद रहा. शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने इसमें कहा कि बालाकोट एयर स्ट्राइक का भाजपा (BJP) ने राजनीतिक लाभ लिया. कांग्रेस (Congress) ने इसका राजनीतिकरण नहीं किया. पाकिस्तान (Pakistan) ने धारा 370 के बाद कश्मीर (Kashmir) को लेकर जो रुख अपनाया वह गलत है. इस मामले में वह केंद्र सरकार के साथ हैं. थरूर ने यह भी माना कि मोदी सरकार के दूसरी बार सत्ता में आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष (Congress President) पद पर निर्णय में देरी से जरूरी मुद्दे उठाने में कांग्रेस (Congress) कमजोर रही. वहीं सत्र में कांग्रेस (Congress) के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने अर्थव्यवस्था के खराब हालात और घटते रोजगार पर केंद्र सरकार को घेरा.

कश्मीर (Kashmir) पर भारत सरकार के साथ
ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस (Congress) के संवाद सत्र में बोलते हुआ कांग्रेस (Congress) नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) को हमारे बारे में बात करने का कोई हक नहीं है. कश्मीर (Kashmir) पर हम भारत सरकार के साथ हैं. कश्मीर (Kashmir) भारत का अभिन्न हिस्सा है. पाकिस्तान (Pakistan) अपनी जमीन का इस्तेमाल चीन को करने दे रहा है. पाकिस्तान को परमाणु हमले की धमकी के बजाय अपने स्थानीय मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए. एक इंच के लिए भी बोलने का पाक हकदार नहीं है.

सर्जिकल स्ट्राइक को भाजपा (BJP) ने भुनाया
एयर सर्जिकल स्ट्राइक पर बोलते हुए शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कहा कि बालाकोट में एयर सर्जिकल स्ट्राइक में आतंकवादी नहीं मारे गए थे. विदेशी मीडिया का हवाला देते हुए कहा कुछ पेड़ गिरे और पहाड़ों से वापस आ गए. लेकिन, हमने वो माना जो भारत सरकार ने कहा. इसका फायदा भाजपा (BJP) को चुनावों में मिला. हमने इस घटना का राजनीतिक लाभ नहीं लिया. उन्होंने कहा कि केंद्र में मोदी सरकार के दोबारा बनने के बाद कांग्रेस (Congress) राष्ट्रीय अध्यक्ष कुछ समय के लिए खाली रहा. जिसका नुकसान जमीनी स्तर पर प्रमुख मुद्दों को उठाने में रहा. अर्थव्यवस्था इस समय नाजुक दौर में है. कांग्रेस (Congress) और विपक्ष को चाहिए कि इन मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाया जाए.

देखें लाइव टीवी

अर्थव्यवस्था के बहाने केंद्र को घेरा
संवाद सत्र में उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने अपने संबोधन में कहा कि इंडिया की अर्थव्यवस्था की हालत बुरी है. आर्थिक मंदी है, बैंकों में ताले लगे. फैक्ट्रियां बंद हुईं, नौजवानों को नौकरी के अवसर नहीं मिले. सरकार बनाने का कोई मतलब नहीं अगर लोगों को अवसर नहीं मिले तो. राजनीति से परे हटकर अच्छा काम करने चाहिए सत्ताधारी पार्टी को. सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा कि इनवेस्ट जब होगा जब निवेश के लिए एक अच्छा मौका होना चाहिए, नीतियां स्थायी हो. भारत के अंदर निवेश का वातावरण बने इसके लिए यहां की राजनीति जिम्मेदार है. कार्यक्रम में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, रघु शर्मा, ममता भूपेश, AIPC राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष रूक्ष्मणि कुमारी सहित कई विधायक मौजूद रहे. संवाद सत्र में प्रेरणा साहनी ने दोनों वक्ताओं से चर्चा की.

सदस्य संख्या बढ़ाने पर जोर
ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस (Congress) के संवाद सत्र में निशाने पर केंद्र सरकार रही. विषय के आधार पर आयोजकों ने देश में वर्तमान हालातों को दर्शाने की पहल की. लेकिन, मुद्दों को प्रभावी तरीके से नहीं रख पाने का मलाल कुछ एआईपीसी सदस्यों को भी रहा. कांग्रेस (Congress) का यह संगठन इन दिनों बेहद सक्रिय है, खासकर कांग्रेस (Congress) शासित राज्यों में. विभिन्न विषयों पर संवाद सत्र का आयोजन कर अपनी सदस्य संख्या में इजाफा कर रहा है.