पीडीपी ने ट्विटर में 'विद्रोही' नेताओं को किया 'अनफॉलो'

अंसारी ने महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व के खिलाफ भाई-भतीजावाद का आरोप लगाते हुए विद्रोह शुरू कर दिया था.

पीडीपी ने ट्विटर में 'विद्रोही' नेताओं को किया 'अनफॉलो'
फाइल फोटो

श्रीनगर/नई दिल्लीः पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने पार्टी नेतृत्व के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद करने वाले विद्रोही नेताओं पर भले ही कोई कार्रवाई ना की हो लेकिन अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से उनमें से कुछ को ‘अनफॉलो’ जरूर कर दिया है. पीडीपी के एक नेता ने कहा कि इस कदम से संकेत मिलता है कि ‘विद्रोहियों’ और पार्टी नेतृत्व में कोई सुलह होने की संभावना नहीं है. पीडीपी का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट @jkpdp है जिसे 23000 लोग फॉलो कर रहे हैं जबकि पीडीपी ने खुद 17 अकाउंट फॉलो कर रखे हैं.

VIDEO : महबूबा मुफ्ती की धमकी - 'PDP को तोड़ने की कोशिश हुई तो भुगतने होंगे खतरनाक अंजाम'

इसमें पीडीपी के सात बागी नेता शामिल नहीं 
पार्टी ने नेताओं, विधायकों, पत्रकारों के अलावा अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा आदि के अकाउंट भी फॉलो कर रखे हैं. बहरहाल, इसमें पीडीपी के सात बागी नेता शामिल नहीं है, जिसमें पांच विधायक और दो विधान पार्षद है. बागी गुट का नेतृत्व शिया समुदाय के प्रमुख नेता इमरान अंसारी कर रहे हैं.

पूर्व मंत्री ने खोला महबूबा मुफ्ती के खिलाफ मोर्चा, भाई-भतीजावाद का लगाया आरोप

महबूबा मुफ्ती पर भाई-भतीजावाद का आरोप
जम्मू-कश्मीर में भाजपा के पीडीपी के साथ गठबंधन खत्म करते ही अंसारी ने महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व के खिलाफ भाई-भतीजावाद का आरोप लगाते हुए विद्रोह शुरू कर दिया था. इमरान ने मीडिया से कहा , ‘‘ महबूबा मुफ्ती ने पीडीपी को न केवल पार्टी के रूप में नाकाम किया बल्कि अपने दिवंगत पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद के उन सपनों को तोड़ दिया जो उन्होंने देखे थे. ’’ उन्होंने महबूबा पर पार्टी और पूर्व पीडीपी - भाजपा गठबंधन सरकार में भाई - भतीजावाद का आरोप लगाया.  (इनपुटः भाषा)