close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नियुक्ति नहीं मिलने पर शारीरिक शिक्षकों का हल्लाबोल

चयनित शिक्षकों का कहना है कि पीटीआई परीक्षा में चयनित होने के एक साल बाद भी उन्हे नियुक्तियां नहीं दी गई है .

नियुक्ति नहीं मिलने पर शारीरिक शिक्षकों का हल्लाबोल
शारीरिक शिक्षकों का हल्लाबोल

त्रिभुवन रंगा,बीकानेर: वर्ष 2018 में चयनित शारीरिक शिक्षकों (physical teacher)ने नियुक्ति की मांग को लेकर आज शिक्षा निदेशालय(directorate of education)से कलेक्टर कार्यालय(collector office) तक रैली निकाल कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और विरोध प्रदर्शन किया.साथ ही सरकार को नियुक्ति देने की मांग का ज्ञापन सौपा . इस दौरान प्रदेशभर के चयनित शिक्षक प्रदर्शन में शामिल हुए रहे. प्रदर्शन कर रहे चयनित शिक्षकों का कहना है कि पीटीआई परीक्षा में चयनित होने के एक साल बाद भी उन्हे नियुक्तियां नहीं दी गई है .
धरने पर बैठी सुधांशु कश्यप ने कहा कि 9 अक्टूबर को चयनित पीटीआई ने निदेशालय के बाहर धरना व प्रदर्शन किया था.जिसके बाद निदेशक नथमल डिडेल ने उन्हें आश्वासन दिया था कि दीपावली से पहले उन्हे नियुक्ति की खुशखबरी मिल जाएगी लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से नियुक्ति का कोई आदेश जारी नहीं किया गया है जिससे तमाम चयनित शारीरिक शिक्षकों में रोष व्यपात है.धरनार्थियों का कहना है कि जल्द से जल्द अगर उन्हें नियुक्ति नहीं दी जाती है तो चयनित शिक्षक उग्र आंदोलन करेंगे.जिसकी जिम्मेवारी राज्य सरकार ओर शिक्षा विभाग की होगी.
आपको बता दे कि शारीरिक शिक्षक भर्ती परीक्षा ग्रेड 3 के 4500 पदों के लिए 4 मई 2018 को विज्ञप्ति जारी हुई थी.परीक्षा 30 सितंबर को हुई थी और जनवरी में परिणाम जारी हुआ था. लेकिन दस्तावेज सत्यापन के बाद भी फाइनल लिस्ट जारी नहीं हुई.जिसके बाद से अभ्यर्थियों ने लगातार मांग उठाई की अंतिम परिणाम जारी करके उन्हे नियुक्ति दी जाए.इससे पहले अगस्त में राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने नोटिफिकेशन जारी कर कहा था कि शारीरिक शिक्षक अनुदेशक (पीटीआई) ग्रेड-थर्ड (गैर अनुसूचित क्षेत्र एवं अनुसूचित क्षेत्र) सीधी भर्ती परीक्षा-2018 में अस्थाई रूप से दस्तावेज सत्यापन के लिए सूचीबद्ध डेढ़ गुणा अभ्यर्थियों के प्रमाण पत्रों के आधार पर खेल अंकों का प्रकाशन एसएसओ आईडी पर किया जाएगा.चयन बोर्ड लगातार तारीख दे रहा है लेकिन नियुक्ति को लेकर तस्वीर अभी तक साफ नहीं हो पाई है.