सुप्रीम कोर्ट पहुंचा PMC बैंक घोटाला, 18 अक्टूबर को होगी सुनवाई

याचिकाकर्ता ने घोटाले के 15 लाख पीड़ितों को पूर्ण सुरक्षा और 100% बीमा लाभ देने की मांग की है.

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा PMC बैंक घोटाला, 18 अक्टूबर को होगी सुनवाई

नई दिल्ली: PMC बैंक घोटाला मामले को लेकर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई. बिजोन मिश्रा नाम के शख्स ने सर्वोच्च न्यायालय में यह याचिका दाखिल की है. इस मामले में जस्टिस रमन्ना की बेंच ने मामले में जल्द सुनवाई की मांग स्वीकार की. याचिकाकर्ता ने घोटाले के 15 लाख पीड़ितों को पूर्ण सुरक्षा और 100% बीमा लाभ देने की मांग की है. 

सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता की जल्द सुनवाई की मांग को भी स्वीकार किया. अब इस मामले में 18 अक्टूबर शुक्रवार को सुनवाई होगी.

आरबीआई (RBI) ने बीते दिनों मुंबई (Mumbai) के जिस पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (Punjab & Maharashtra Co-operative Bank, PMC) लिमिटेड के लोन बांटने पर पाबंदी लगाई थी, उसके खिलाफ दर्ज FIR में बड़े खुलासे हुए हैं. बैंक ने बड़े पैमाने पर कंपनियों को लोन बांटा है. यह रकम जानकर आपके होश उड़ जाएंगे. FIR में 4355 करोड़ रुपए की गड़बड़ी की बात उजागर हुई है.

4355 करोड़ रु की गड़बड़ी का जिम्मेदार कौन?
इतना ही नहीं FIR में बताया गया है कि सिर्फ एक HDIL को 44 खातों के जरिए लोन बांटा गया. गड़बड़ी पकड़ में आने के बाद से सिर्फ 10 खातों की जांच हो पाइ है. 44 खातों की रकम छुपाने के लिए 21,049 डमी खाते बने. चौकाने वाली बात यह है कि 21,049 डमी खाते बैंक के CBS से लिंक नहीं किए गए थे. बैंक के एडवांस मास्टर इन्डेंट सॉफ्टवेयर में 44 बड़े खातों के बदले 21049 डमी खाते मिले हैं.

क्‍यों बने डमी खाते
- RBI की जांच में छोटे-छोटे खातों को पकड़ा नहीं जा सके
- केस में बैंक के बर्खास्त MD जॉय थॉमस व अन्य पर FIR दर्ज़
- FIR में HDIL के प्रमोटर्स, ग्रुप कंपनियों का भी नाम दर्ज़
- पूर्व MD थॉमस के देश छोड़कर जाने पर पाबंदी लगाई गई
- पुलिस ने जॉय थॉमस के खिलाफ लुक आउट नोटिस इश्यू किया

साल 2008 के बाद से बैंक खातों में गड़बड़ी
आपको बता दें व्हिसिलब्लओर ने साल 2008 के बाद से बैंक के खातों में गड़बड़ी बताई है. रियल्टी कंपनी HDIL को बांटा गया लोन डूब गया यह छुपाया गया है. जांच एजेंसियों की शुरुआती पड़ताल में जानकारी मिली है कि HDIL ग्रुप को 6,400 करोड़ रुपये का लोन दिया गया था.

यह भी पढ़ें: PMC बैंक: प्रदर्शन के बाद खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत, खातों में जमा थे 90 लाख

1 हफ्ते में कैसे फूटा PMC बैंक का भांडा
-17 सितंबर को व्हिसिलब्लओर की RBI को चिट्ठी मिली
-18 सितंबर को बैंक के MD जॉय थॉमस की RBI से मीटिंग
-19 सितंबर से RBI ने PMC बैंक के इंस्पेक्शन शुरू किया
-21 सितंबर को बैंक के MD ने RBI के सामने गड़बड़ी कबूली
-23 को RBI का निर्देश, 1000 रु निकासी की सीमा तय हुई
-24 सितंबर RBI के एडमिनिस्ट्रेटर ने बैंक का जिम्मा संभाला

(इनपुट: संवाददाता सुमित कुमार से भी)