close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भरतपुर में बदमाशों को पकड़ने के लिए पुलिस ने बदला तरीका, किया कुछ ऐसा...

वारदातों पर रोक लगाने के लिए स्थानीय पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए नई रणनीति बनाई है. थाना पुलिस रात्रि में सामान्य जीप के अलावा अन्य वाहनों से गश्त कर रही है.

भरतपुर में बदमाशों को पकड़ने के लिए पुलिस ने बदला तरीका, किया कुछ ऐसा...
पुलिस के इस तरीके से कई बार स्थानीय लोग भी चौंक गए हैं.

देवेन्द्र सिंह/भरतपुर: राजस्थान के भरतपुर जिले के नदबई थाना क्षेत्र में वाहन लूट की बढ़ती वारदातों को रोकने के लिए पुलिस ने नायाब तरीका अपनाया है. पुलिस ने बदमाशों को उसी की भाषा में जवाब देने के लिए गश्त का पैटर्न बदला है. बदमाशों को चकमा देने के लिए पुलिस अब जीप के अलावा अन्य दूसरे वाहनों से रात्रि में गश्त कर रही है.

खबर के मुताबिक, पुलिस पार्टी ट्रेक्टर-ट्रॉली व पिकअप समेत अन्य वाहनों का इस्तमाल कर रही है. पुलिस के इस तरीके से कई बार स्थानीय लोग भी चौंक गए हैं. गौरतलब है कि नदबई थाना क्षेत्र में पिछले कुछ समय से वाहन लूट की वारदातों में इजाफा हुआ था. जिनमें बदमाश ट्रेक्टर-ट्रॉली समेत अन्य वाहन छीन कर ले जा चुके हैं. इन वारदातों पर रोक लगाने के लिए स्थानीय पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए नई रणनीति बनाई है. थाना पुलिस रात्रि में सामान्य जीप के अलावा अन्य वाहनों से गश्त कर रही है. इन वाहनों में बकायदा जाब्ता मय हथियार के साथ रहता है, जिससे बदमाशों से सामना होने पर उन्हें करारा जवाब दिया जा सके.

नदबई के थाना प्रभारी रामकिशन यादव के मुताबिक वाहन लूट की वारदातों को रोकने के लिए गश्त का थोड़ा पैटर्न बदला है. पुलिस गश्त के लिए ट्रेक्टर व पिकअप जैसे वाहनों का भी इस्तमाल कर रही है. साथ ही, प्रमुख रास्तों पर भी नजर रखी जा रही है. वहीं गश्ती दल के साथ शस्त्र दल भी रहता है और कंटीले तार समेत अन्य सामान भी साथ रखे जा रहे हैं ताकि चोरों और बदमाशों के भागने की कोई गुंजाइश न बचे.

गौरतलब है कि नदबई में आवाजाही के कई रास्ते हैं, ये मार्ग ही पुलिस के लिए सिरदर्द बने हुए हैं. इसमें जनूथर-डीग मार्ग, कुम्हेर-नदबई, नगर, बरौलीछार, खेड़ली आदि मार्ग शामिल हैं. बदमाश इन मार्गों का फायदा उठाकर वारदातों को अंजाम देते हैं. पुलिस ने इस मार्गों पर निगाह रखने के लिए रात्रि के समय प्रमुख रास्तों पर दो-दो पुलिसकर्मी तैनात किए हैं जो संदिग्ध दिखने वाले लोगों की सूचना सीधे थाने या गश्त पार्टी को देते हैं. जिससे उनकी जांच की जा सके.

वाहन लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह पर काबू पाने के लिए पुलिस ने पूरे इतंजाम कर रखे हैं. गश्त के दौरान संदिग्ध वाहनों को रोकने लिए पुलिस कंटीले तार भी लेकर चल रही है. जिससे कि इशारा देने के बाद भी नहीं रुकने वाले वाहनों को पुलिस पकड़ सके और कोई भी वाहन पुलिस को चकमा देकर भाग नहीं सके.