close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुलिस की लापरवाही, RTI एक्टिविस्ट का पोस्टमार्टम वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

पूरा मामला यह है कि आरटीआई एक्टिविस्ट की पुलिस हिरासत दौरान संदिग्ध मौत के बाद पुलिस ने एक बोर्ड बनाया था. 

पुलिस की लापरवाही, RTI एक्टिविस्ट का पोस्टमार्टम वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल
आरटीआई एक्टिविस्ट की पुलिस हिरासत दौरान संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी.

बाड़मेर: राजस्थान में गहलोत राज्य में कानून व्यवस्था दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है. आरटीआई एक्टिविस्ट जगदीश गोलियां की पचपदरा थाना अंतर्गत संदिग्ध मौत के बाद अब पुलिस और चिकित्सा विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है. यह वीडियो इंसानियत को शर्मसार करने वाली है. इस वीडियो को देखने के बाद आप यह जरूर करेंगे कि आखिर कोई इस हद तक कैसे गिर सकता है. 

दरअसल, आरटीआई एक्टिविस्ट जगदीश गोलियां मौत मामले में पोस्टमार्टम होने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. जब आनन-फानन में लोगों को पता चला तो सोशल मीडिया से वीडियो हटा दिया गया लेकिन इस तरीके से वीडियो बनाना कहां तक सही है और उसे सोशल मीडिया पर वायरल करना इंसानियत को शर्मसार करना होता है. 

पूरा मामला यह है कि आरटीआई एक्टिविस्ट की पुलिस हिरासत दौरान संदिग्ध मौत के बाद पुलिस ने एक बोर्ड बनाया था. जो वीडियो बनाकर पोस्टमार्टम किया जा रहा था. उसी वीडियो को किसी ने सोशल मीडिया पर डाल दिया. अब देखने वाली बात यह होगी कि इस हरकत के लिए गहलोत सरकार पुलिस और चिकित्सा विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ क्या कार्रवाई करती. दरअसल ये पोस्टमार्टम न्यायिक मजिस्ट्रेड एसीजीएम बालोतरा, एसडीएम सहित पुलिस के अधिकारियों की मौजूदगी में हुआ था. उसके बावजूद लोगो ने पोस्टमार्टम करते हुए का लाइव वीडियो बना कर वायरल कर दिया.