close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झुंझुनूं में आरएसी जवान की हत्या के मामले में पुलिस ने किया चौंकाने वाल खुलासा...

एसपी गौरव यादव ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरएसी जवान कुलदीप की हत्या उसकी ही पत्नी कविता तथा कविता के प्रेमी कविन उर्फ सचिन ने कुल्हाड़ी से की है. 

झुंझुनूं में आरएसी जवान की हत्या के मामले में पुलिस ने किया चौंकाने वाल खुलासा...
जून 2017 में ही कुलदीप और कविता की शादी हुई थी.

झुंझुनूं: राजस्थान के झुंझुनूं के पचेरी थाना क्षेत्र के ढाणी निहालोठ गांव में दिन दहाड़े हुए एक आरएसी जवान के मर्डर मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है. एसपी गौरव यादव ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरएसी जवान कुलदीप की हत्या उसकी ही पत्नी कविता तथा कविता के प्रेमी कविन उर्फ सचिन ने कुल्हाड़ी से चार-पांच वार कर की है. एसपी ने बताया कि सूचना के साथ ही वे खुद मौके पर पहुंचे थे और सीकर से डॉग स्कवायड की टीम भी बुलाई गई थी. इस मामले में पुलिस को मृतक की पत्नी के साथ-साथ कविन उर्फ सचिन पर शक हुआ. कविन उर्फ सचिन मृतक के चाचा का बेटा था. पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल लिया और दोनों को गिरफ्तार कर लिया.

झुंझुनूं के एसपी गौरव यादव के मुताबिक आरएसी जवान छुट्टी पर आया था. वहीं, पिता घर पर आए तो जवान मृत हालत में पड़ा था. यह घटना ब्लाइंड मर्डर केस था. घर में सामान बिखरा हुआ था. जिससे संभावना थी कि या तो लूट का सीन क्रिएट किया गया है और फिर लूट की गई है. मौके पर मैं खुद गया और डॉग स्कवायड के अलावा एफएसएल और एमओबी की टीम को भी बुलाया. लोगों से बातचीत की गई. शक कुलदीप के चचेरे भाई कविन और उसकी पत्नी कविता पर हुआ. दोनों से पूछताछ की तो उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया.

एसपी गौरव यादव ने बताया कि जून 2017 में ही कुलदीप और कविता की शादी हुई थी. करीब छह-सात महीने पहले कविता और कविन संपर्क में आए और वे एक-दूसरे को प्यार करने लगे. उन्होंने तय कर लिया था कि कुलदीप को मारकर वे दोनों शादी कर लेंगे. इसी दौरान जब इस बार कुलदीप आया तो वह अपने साथ पत्नी कविता को भी पोस्टिंग वाली जगह ले जाने के लिए बोल रहा था. जिससे दोनों ने घटना के एक दिन पहले ही मर्डर की योजना बनाई. 

वहीं, मर्डर वाले दिन कुलदीप की मां अपने ससुर के साथ दवा लेने के लिए नारनौल जाने वाली थी और पिता मजदूरी पर. घर पर कविता और कुलदीप दोनों ही थे. योजना के मुताबिक कुलदीप और कविता दोनों पहले खेत में गए और इसके बाद कुलदीप को घर लेकर आई आराम के लिए. कुलदीप की चारपाई पर लेटने के बाद आंख लगी तो कविता ने फोन करके कविन को बुलाया और कविन ने पहला वार कुलदीप पर किया. इसके बाद तीन से चार वार कविता ने भी किए. फिर दोनों ने मिलकर घर में लूट जैसे सीन बनाया ताकि पुलिस को गुमराह कर सकें. 

एसपी गौरव यादव ने यह भी बता या कि घरवालों से बातचीत में सामने आया कि छह-सात महीने पहले से दोनों के बीच बातचीत हो रही थी. दोनों ने सोच लिया था कि यदि कुलदीप की डेथ हो जाती है तो दोनों शादी कर लेंगे. घटना के एक दिन पहले मर्डर की प्लानिंग बनाई. कुलदीप अपनी पत्नी को भी पोस्टिंग वाली जगह ले जाना चाहता था.

वहीं, पचेरी थानाधिकारी भरतलाल मीणा ने बताया कि घटना से पहले कुल्हाड़ी को मृतक की पत्नी ने घर में ही सोफे के नीचे छुपा दिया था. जो काम में ली गई और घटना के बाद घर के जेवर देकर कविता ने कविन को रवाना कर दिया. ताकि पूरी वारदात लूट से जुड़ी हुई लगे. पुलिस ने काम में ली गई कुल्हाड़ी और कविन के पास से जेवरात बरामद कर लिए हैं.