अपराधियों को मार गिराने के लिए पुलिस ने ली हथियार चलाने की ट्रेनिंग,कुछ पास कई फेल

एसपी गौरव यादव ने बताया कि कई बार कानून व्यवस्था को बनाए रखने और आपात स्थिति से निपटने के लिए हथियार और टीयर गैस आदि का उपयोग करना पड़ता है.ऐसे में समय-समय पर दी गई ट्रेनिंग पुलिसकर्मियों के काफी काम आती है.

अपराधियों को मार गिराने के लिए पुलिस ने ली हथियार चलाने की ट्रेनिंग,कुछ पास कई फेल
आज पुलिस लाइन में हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी गई, कुछ पास हुए लेकिन कई हुए फेल

संदीप केडिया,झुंझुनूं: के पुलिस अधिकारियों (Police officers)को आज पुलिस लाइन में हथियार चलाने की ट्रेनिंग(Weapon training)दी गई. समय-समय पर एसपी गौरव यादव के निर्देशन में यह ट्रेनिंग दी जाती है. इसी क्रम में आज भी क्राइम मिटिंग से पहले पुलिस अधिकारियों को यह ट्रेनिंग दी गई.साथ ही यह भी ताकिद किया गया कि वो अपने-अपने थानों में यह तय कर लें कि हर एक पुलिसकर्मी को हथियार चलाने की ट्रेनिंग मिल गई है. इस ट्रेनिंग में एएसपी नरेंद्र मीणा समेत सभी एसएचओ और सीओ मौजूद रहे.लेकिन हैरानी इस बात की रही इस ट्रेनिंग में बहुत कम पुलिस वाले ही पास हो पाए .
एसपी गौरव यादव (SP Gaurav Yadav)ने बताया कि कई बार कानून व्यवस्था को बनाए रखने और आपात स्थिति से निपटने के लिए हथियार और टीयर गैस आदि का उपयोग करना पड़ता है.ऐसे में समय-समय पर दी गई ट्रेनिंग पुलिसकर्मियों के काफी काम आती है. ट्रेनिंग के बाद मोरारका सभागार में हुई समीक्षा बैठक में एसपी गौरव यादव ने सालभर से पेंडिंग चल रहे सभी मामलों की फाइलें भी देखी और उनके निस्तारण के निर्देश दिए. इसके साथ-साथ पोक्सो (Poxo)और 376 के मामलों को लेकर भी जानकारी ली.निकाय चुनाव और सेना भर्ती के साथ-साथ कोर्ट के आने वाले संभावित परिणामों को लेकर भी इस दौरान एसपी गौरव शर्मा ने चर्चा की.एसपी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मुखबिर तंत्र को मजबूत करें और लोगों से संवाद कायम रखें. ताकि हर एक मूवमेंट पर पुलिस की नजर रह सके.