बारां में अतिक्रमण का शिकार हो रही कई सड़कें, पुलिस ने की कड़ी कार्रवाई

शनिवार को इस मार्ग की हालत और भी दयनीय हो जाती है. शनिवार को साप्ताहिक हाट के दिन वाहन चालकों को इस मार्ग को पार करना जंग जितने के बराबर हो जाता है.

बारां में अतिक्रमण का शिकार हो रही कई सड़कें, पुलिस ने की कड़ी कार्रवाई
इसी तरह से कस्बे का मेन मार्केट भी पूरी तरह से अतिक्रमण की भेंट चढ़ा हुआ है.

राम मेहता/बारां: राजस्थान के बारां के अंता में लगातार बढ़ रहे अस्थायी अतिक्रमण के कारण शहर के सभी चौड़े मार्ग सिकुड़कर सकरे हो गए है. ऐसे में वाहन चालकों को इन मार्गो से गुजरने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. सबसे बदत्तर हालत अस्पताल रोड की हो रही है जहां हर आधे घण्टे में जाम जैसे हालात पैदा हो जाते है. यूं तो शहर का सबसे चौड़ा मार्ग यही है इसके बाउजूद अतिक्रमियों के कारण यह मार्ग सिमटकर सकरा हो गया है. ऐसे में वाहन चालकों के इस मार्ग से गुजरने में पसीने छूट रहे हैं.

वहीं, शनिवार को इस मार्ग की हालत और भी दयनीय हो जाती है. शनिवार को साप्ताहिक हाट के दिन वाहन चालकों को इस मार्ग को पार करना जंग जितने के बराबर हो जाता है. इस मार्ग से अस्पताल आने जाने के लिए एम्बुलेंस चालक को भी काफी मशक्कत करनी पड़ती है. इस मार्ग से सीसवाली, इटावा, खातोली सहित मध्यप्रदेश के श्योपुर तक वाहनों की आवाजाही होने के कारण भीड़ भरा माहौल बना रहता है. जिससे जाम जैसे हालात पैदा होते रहते है.

सीएलजी की होने वाली बैठकों में भी इस मुद्दे को कई बार प्रमुखता से उठाया गया परन्तु नतीजा सिर्फ शून्य ही रहा. इसी तरह से कस्बे का मेन मार्केट भी पूरी तरह से अतिक्रमण की भेंट चढ़ा हुआ है. दुकानदारो ने अपनी दुकानों के आगे बेंचे तथा तख्ते लगाकर इस मार्ग को बिल्कुल ही सकरा बना दिया है. चार पहिया वाहन तो क्या दुपहिया वाहन चालक को भी इस मार्ग से गुजरने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है.

जब कि पूर्व में इसी मार्ग से बसों की आवाजाही होती थी. लोगों के मानें तो आज यह मार्ग एक गली बनकर रह गया है और यह सब प्रशासन के ढीले रवैये के कारण ही हो रहा है. जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है. लोगों का कहना है की दुकानों के आगे अतिक्रमण कर लेने से मार्ग सकरा हो गया है ऐसे में यहां लोगों को निकलने में भारी परेशानी होती है और नगर पालिका ध्यान देती नहीं.