close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: RU कुलपति को हटाने की मांग को लेकर छात्रों का धरना जारी, कर्मचारी-प्रोफेसरों ने किया समर्थन

राजस्थान यूनिवर्सिटी में पिछले कुछ दिनों से कुलपति को हटाने की मांग को लेकर छात्रों का धरना जारी है. अब इस धरने को यूनिवर्सिटी के प्रोफेसरों और कर्मचारियों का भी समर्थन मिल गया है.

जयपुर: RU कुलपति को हटाने की मांग को लेकर छात्रों का धरना जारी, कर्मचारी-प्रोफेसरों ने किया समर्थन
जांच के दौरान कुलपति को लंबी छुट्टी पर भेजने की मांग की जा रही है.

जयपुर: राजस्थान यूनिवर्सिटी (Rajasthan University) में पिछले कुछ दिनों से कुलपति (Vice Chancellor) को हटाने की मांग को लेकर छात्रों का धरना जारी है. अब इस धरने को यूनिवर्सिटी के प्रोफेसरों और कर्मचारियों का भी समर्थन मिल गया है.

कुलपति के खिलाफ हो रही जांच के दौरान कुलपति को लंबी छुट्टी पर भेजने की मांग को लेकर कुलपति सचिवालय के बाहर शिक्षकों और कर्मचारियों ने धरना शुरू किया. जिसके बाद सोमवार को कुलपति सचिवालय के बाहर भारी हंगामा देखने को मिला. इस दौरान प्रोफेसर और छात्रों ने कुलपति का रास्ता रोक जमकर नारेबाजी की.

कुलपति के खिलाफ चल रही है जांच
बता दें, यूनिवर्सिटी में भर्तियों सहित अन्य भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते इस समय कुलपति आरके कोठारी के खिलाफ जांच चल रही है. इस दौरान कुलपति पर जांच को प्रभावित करने के आरोप लगने लगे हैं. जिसके बाद यूनिवर्सिटी के प्रोफेसरों ने जांच के दौरान कुलपति को लंबी छुट्टी पर जाने की सलाह दे दी है.

वीसी सचिवालय जाकर की नारेबाजी
इसी मांग को लेकर आज कुलपति सचिवालय के बाहर यूनिवर्सिटी को प्रोफेसर और कर्मचारी भी छात्रों के साथ धरने पर बैठ गए हैं. धरने के दौरान जब कुलपति आरके कोठारी वीसी सचिवालय पहुंचे तो प्रोफेसरों, कर्मचारियों, छात्रों ने कुलपति का रास्ता रोकने का प्रयास किया और जमकर नारेबाजी की.

जानिए क्या लग रहे हैं आरोप
कुलपति सचिवालय के बाहर धरने पर बैठे प्रोफेसरों ने आरोप लगाया कि कुलपति पद पर रहते हुए जांच को प्रभावित कर रहे हैं. ऐसे में या तो कुलपति को स्वविवेक के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए या फिर जब तक जांच हो तब तक छुट्टियों पर चले जाना चाहिए.

राविवि के प्रोफेसर सुरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा कि कुलपति पर लगे आरोपों को लेकर संभागीय आयुक्त द्वारा जांच की जा रही है. ऐसे में पद पर रहते हुए कुलपति जांच को प्रभावित कर रहे हैं. जांच के दौरान मांगी जाने वाली जानकारी देने में भी देरी की जा रही है. ऐसे में जब तक कुलपति को लंबी छुटियों पर नहीं भेजा जाता है तब तक धरना दिया जाएगा.

एक सप्ताह से छात्र दे रहे हैं धरना
कुलपति को हटाने की मांग को लेकर पिछले एक सप्ताह से यूनिवर्सिटी के छात्र भी कुलपति सचिवालय के बाहर धरना दे रहे हैं. छात्र नेता रवि चौधरी ने आरोप लगाते हुए कहा कि कुलपति पर राज्यपाल ने जांच कमेटी बैठाई है. लेकिन इसके बाद भी कुलपति अपनी मनमर्जी कर रहे हैं. जब तक कुलपति को उनके पद से नहीं हटा दिया जाता है तब तक आंदोलन जारी रहेगा. छात्र नेताओं ने कार्रवाई नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है. 

कुलपति दिख रहे हैं आहत
वहीं दूसरी ओर पिछले कुछ दिनों से यूनिवर्सिटी में चले आ रहे घटनाक्रम पर कुलपति आरके कोठारी आहत नजर आए. कुलपति आरके कोठारी ने कहा कि मेरे खिलाफ जांच में पूरी मदद की जा रही है और जो भी जानकारी है वो कमेटी को सौंपी जा रही है. लेकिन अगर यूनिवर्सिटी के कुछ चुनिंदा शिक्षक और छात्र नेता पद से हटने का दबाव बनाते हैं तो ऐसा हरगिज नहीं होगा. ऐसे में जब तक जांच कमेटी अपनी रिपोर्ट नहीं सौंप देती है और मेरे खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो जाती है तब तक पद नहीं छोड़ूंगा.

सुरक्षा हटाए जाने पर भी रखी राय
सरकार की ओर से सुरक्षा को हटाने को लेकर भी कुलपति आरके कोठारी ने अपनी पीड़ा जाहिर की. कुलपति ने कहा किपिछले 30 सालों से राजस्थान यूनिवर्सिटी के कुलपति को सुरक्षा दी जा रही है और पिछले कुछ दिनों से जो घटना क्रम चल रहा है इस दौरान सरकार ने सुरक्षा हटाई जो गलत है. हालांकि ये सरकार के स्तर का फैसला है इसलिए इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा. लेकिन जो हालात इस समय यूनिवर्सिटी में बन रहे हैं वो भविष्य के लिए सही संकेत नहीं है."