close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुणेः ये है दुनिया का सबसे लंबा गन्ना, 40 फीट है लंबाई

आमतौर पर गन्ना 12 से 13 फिट होने के बाद हवा के कारण टूट जाता है, लेकिन अगर बैरीगेटींग अच्छी की जाए तो गन्ना बढ़ते जाएगा यह राजेंद्र यादव ने कर के दिखाया है.

पुणेः ये है दुनिया का सबसे लंबा गन्ना, 40 फीट है लंबाई
40 फीट का होने के बाद अभी और बढ़ सकती है गन्ने की लंबाई

(जावेद मुलानी)/पुणेः बारामती मे एक कृषि प्रदर्शन लगा है जिसमें 40 फीट का गन्ना सबका ध्यान अपनी तरफ खींच रहा है. यह उंचा गन्ना देखने के लिए यहाँ लोगो का तांता लगा हुआ है. पुणे के पास हडपसर के किसान राजेंद्र यादव इस शिक्षक ने घर के सामने गन्ने उगाया था. दो साल से यह गन्ना लगातार बढ़ रहा है. आमतौर पर गन्ना 14 से 15 फिट तक बढ़ता है, लेकिन राजेंद्र यादव का यह गन्ना अब तक 40 फिट तक बढ़ा है और आगे भी बढ़ते जाएगा ऐसा उनका कहना है. जब गन्ने की बात फैली तो रिसर्चर राजेंद्र यादव के घर पर चले आए. आमतौर पर गन्ना 12 से 13 फिट होने के बाद हवा के कारण टूट जाता है, लेकिन अगर बैरीगेटींग अच्छी की जाए तो गन्ना बढ़ते जाएगा यह राजेंद्र यादव ने कर के दिखाया है.

इंदौर में लोगों ने फहराया 12 किलोमीटर लंबा 'तिरंगा', बन सकता है वर्ल्ड रिकॉर्ड

राजेंद्र यादव कहते हैं कि, “हमने आंगन में गन्ना लगाया था, कुछ दिनों बाद देखा तो पता चला कि सात-आठ फीट का होने के बाद वह मुड़ने लगा है. तो हमने उसकी बैरीकेटींग की और गन्ने को सीधा किया. उसके बाद यह गन्ना लगातार बढ़ते जा रहा है. अगर गन्ने को अच्छा पानी मिले तो गन्ना बढ़ते जाएगा यब बात साफ है. हमने कभी यह नहीं सोचा था की वह 40 फिट तक बढेगा. यह शायद और भी बढ़ सकता है. इसलिए मैं उसे कृषि प्रदर्शन में लेकर आया हूं. राजेंद्र का गन्ना देखने आसपड़ोस के गांववाले भी आते हैं. फिलहाल राजेंद्र के आंगन में बस 15 से 16 गन्ने खड़े हैं, लेकिन जब एकड़ों में यह गन्ना लगाया जाएगा क्या वह भी इतना ही बढ़ेगा? इसका जवाब भी हां ही है.

Video: स्विट्जरलैंड के इस डेयरडेविल ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, हवा में लटकी कुर्सी पर बिताए 8 घंटे

राजेंद्र ने कहा " बढ़ना गन्ने की फितरत है. वह थोड़ा बड़ा होने के बाद हवा से गिरता है या टूट जाता है. अगर किसान सही सपोर्ट तैयार करें तो यह संभव है. उसकी कोई प्रणाली विकसित करनी होगी. हालांकि सैकड़ों की जमीन पर लगे गन्नों को खड़ा करने में थोड़ी परेशानी होगी. जिसके लिए अलग तकनीक का इस्तेमाल करना होगा, लेकिन यह असंभव बिलकुल नहीं है. इससे गन्ना किसानों को फायदा ही होगा.” फिलहाल बारामती के कृषि प्रदर्शन में लाया यह 40 फीट ता गन्ना देखने के लिए काफी भीड़ लगी है जिसने राजेंद्र यादव को सेलिब्रेटी बनाया है.