जहरीली शराब से मरने वालों के परिजन को 5 लाख और परिवार के एक सदस्य को नौकरी का ऐलान

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज जहरीली शराब पीने से मरने वाले लोगों के परिजनों से मुलाकात की. मुख्यमंत्री ने परिजनों को 5 लाख रूपए देने के साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का ऐलान किया .

जहरीली शराब से मरने वालों के परिजन को 5 लाख और परिवार के एक सदस्य को नौकरी का ऐलान
फाइल फोटो

पंजाब : मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह शुक्रवार को जहरीली शराब पीकर जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों से आज मुलाकात की. इस दौरान सीएम ने मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपये देने की घोषणा की. इसके साथ-साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का भी ऐलान किया.मुख्यमंत्री ने कहा कि ,'सभी पीड़ित परिवारों को बीमा योजना का लाभ भी दिया जाएगा'. मृतकों के कच्चे घरों को पक्का किया जाएगा. दिव्यांगों को ट्राई साइकिल दी जाएगी .अमरिंदर सिंह ने कहा कि, 'जिन लोगों की आंखो की रोशनी गई है उन्हें भी पांच लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा'.

पत्रकारों से मुखातिब मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्हें पीड़ित परिवारों से पूरी हमदर्दी है . सरकार आरोपितों को सजा दिलाएगी .उन्होंने इस घटना को हाल के दिनों की सबसे बड़ी त्रासदी करार देते हुए पुलिस महानिदेशक (DGP) को आदेश दिया है कि इसे आईपीसी की धारा 302 में शामिल किया जाये .

इस दौरान मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ पंजाब कांग्रेस के प्रधान सुनील जाखड़, लोक सभा हलका खड़ूर साहिब से सांसद जसवीर सिंह डिंपा, वेयर हाउस के चेयरमैन राज कुमार वेरका, विधायक हरमिंदर सिंह भी मौजूद थे. 

गौरतलब है कि ,पंजाब मेंं जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्‍या 123 पहुंच गई है .अमृतसर के कत्थूनंगल थाने के कोटला तरखाना गांव में जहरीली शराब पीने से एक और व्यक्ति की मौत हो गई . मंगलवार की रात 47 वर्षीय बलदेव सिंह ने गांव से ही शराब लेकर पी थी. दूसरी ओर, राज्‍य के तीन जिलो में जहरीली शराब पीने से मौतों की मजिस्‍ट्रेट जांच शुरू हाे गई है . जहरीली शराब से हुईं मौतों के मामले में जालंधर डिवीजन के कमिश्नर राज कमल चौधरी ने मजिस्ट्रेट जांच शुरू कर दी. वह अपनी रिपोर्ट 21 दिन के भीतर तैयार कर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को देंगे.