close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भीलवाड़ा: धनतेरस के पहले बाजार में उमड़ी भीड़, जमकर हुई खरीददारी

ग्राहकों की भीड़ ने सोने-चांदी की चमक और बढ़ा दी. बर्तन बाजार परंपरागत तरीके से खनकता रहा. इलेक्ट्रोनिक आइटम, रेडिमेड कपड़े, मिठाई, खील-खिलौने, ड्राई फूड्स, लक्ष्मी-गणेश, कलेंडर, सजावटी सामान और मोबाइल की दुकानों पर दिनभर ग्राहक आते-जाते रहे. 

भीलवाड़ा: धनतेरस के पहले बाजार में उमड़ी भीड़, जमकर हुई खरीददारी
बाजार में खरीददारी करते लोग.

दिलशाद खान, भीलवाड़ा: धनतेरस के अवसर पर लक्ष्मी के रूप में पीली मिट्टी घर पर लाई गई. यह मिट्टी पूजा के तोर पर शुभ कार्य में शुभ मानी जाती है. ग्रामीण क्षेत्रों में धन तेरस के अवसर पर सुबह चार बजे से ही परिवार के सदस्य पीली मिट्टी लेने निकल पड़ते हैं. यह मिट्टी यहां गांव में स्थित छोटी खदान से लाई जाती. इस अवसर पर खदान पर सुबह 4 बजे से भारी भीड़ जमा हो जाती है.

दीपोत्सव का श्रीगणेश शुक्रवार को धनतेरस के साथ हो गया. धनतेरस पर कुछ न कुछ खरीदने के दस्तूर ने जमकर धूम-धमाका किया. बाजार में उमड़ी भीड़ अपने-अपने पसंदीदा आइटम की ओर बिखर गयी. चमचमाती कारों और बाइकों से शहर की सड़कें गुलजार रहीं. 

ग्राहकों की भीड़ ने सोने-चांदी की चमक और बढ़ा दी. बर्तन बाजार परंपरागत तरीके से खनकता रहा. इलेक्ट्रोनिक आइटम, रेडिमेड कपड़े, मिठाई, खील-खिलौने, ड्राई फूड्स, लक्ष्मी-गणेश, कलेंडर, सजावटी सामान और मोबाइल की दुकानों पर दिनभर ग्राहक आते-जाते रहे. इस सबके बीच बैंकों के एटीएम के सामने लाइन नहीं टूटी. सर्राफ बाजार तक और गली-मोहल्ले में दुकान खोलकर बैठे स्वर्णकारों को धनतेरस पर फुर्सत नहीं थी. 

ज्वैलरी के कारोबार से जुड़े जानकारों का मानना है कि धनतेरस पर इस बार करीब 20 करोड़ रुपये की खरीददारी होने की आशंका है. चांदी के लक्ष्मी-गणेश, सोने-चांदी के सिक्के, आभूषण आदि खरीदे गये. स्वर्णाभूषणों में इस बार चाइनीज आइटम भी खास तौर पर पेश किए गए. महिलाओं के लिए लक्ष्मी-गणेश वाले हार खासे पसंद किए गए. 

मान्यता है कि धनतेरस पर बर्तन खरीदने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं. घर में धन-धान्य की वृद्धि होती है. इस परंपरा को कैश करने को बर्तन बाजार ने कोई कमी नहीं छोड़ी. उपभोक्ताओं के रूझान को देखते हुए कम चिकनाई और बिना चिकनाई के व्यंजन बनाए जाने वाले एयर फ्रायर खास रहे. बोन चाइना से बने क्रॉकरी सेट से लेकर किचन सेट तक लोगों ने जमकर खरीदे. दो करोड़ से रुपये से ज्यादा के बर्तनों की धनतेरस पर बिक्री होने की आशंका है. इलेक्ट्रोनिक बाजार में भी झिलमिल नजर आई. टीवी, डीवीडी, एलसीडी, वीसीडी, म्यूजिक सिस्टम, वाशिंग मशीन, फ्रिज, इंडक्शन कुकर, प्रेस, लाइटिंग का सामान आदि की दुकानें दोपहर तक तो सूनी-सूनी रहीं, लेकिन दोपहर बाद ग्राहकों की लाइन लग गई.

दीपावली पर एक-दूसरे को देने के लिए लोगों ने जमकर मिठाई खरीदी. प्रतिष्ठित मिष्ठान भंडारों पर इतने ग्राहक उमड़े कि पैर रखने को भी जगह नहीं रही. हालांकि फुटपाथी मिठाई वालों ने भी अपने फड़ सजा लिए हैं. ड्राइफूड्स व गिफ्ट पैक खाद्य पदार्थो की बिक्री हुई. बाजार में ठेलों व जमीन पर फड़ लगाकर मिट्टी के लक्ष्मी-गणेश, खील-बताशे, कलैंडर और गुलदस्तों के खरीददार भी कम नहीं थे. घर सजाने के लिए लोग आर्टिफिशियल फूल-पत्तियां भी खूब पसंद कर रहे थे. लक्ष्मी पूजन के लिए मिट्टी की प्रतिमा व खील-बतासे लेने वाले भी खूब थे. 

त्योहार के मद्देनजर मोबाइल बाजार में भी रौनक रही. खासकर युवाओं ने मोबाइल की खरीददारी ज्यादा की. ब्रांडेड कंपनियों के मोबाइल सेट के साथ ही कम चर्चित कंपनियों के सेट ग्राहक खूब पसंद कर रहे हैं. स्क्रीन टच, एंड्रॉएड, 4-जी, विंडो फोन अधिक पसंद किए जा रहे हैं. बाजार में खरीददारी करने के लिए पैसों की जरूरत पड़ी या खरीददारी करते-करते पर्स खाली हो गया तो ग्राहक एटीएम जा पहुंचे, लेकिन वहां आधा-पौना घंटे इंतजार के बाद बारी आई. सुख, समृद्धि, यश और वैभव का पर्व धनतेरस पर लोगों ने बाजार में जमकर खरीदारी की.