close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर में आयकर विभाग की राष्ट्रीय कांफ्रेंस, टीडीएस कटता हैं तो जरुर पढ़ें यह खबर

16वें अखिल भारतीय टीडीएस सम्मेलन में सीबीडीटी सदस्य पीके दास ने कहा कि फेसलैस स्क्रूटनी पर तेजी से काम हो रहा हैं.

जयपुर में आयकर विभाग की राष्ट्रीय कांफ्रेंस, टीडीएस कटता हैं तो जरुर पढ़ें यह खबर
देशभर से 45 आयकर आयुक्त इस कांफ्रेंस में भाग ले रहे हैं.

जयपुर: देशभर के टीडीएस आयकर आयुक्त जयपुर में है. आयकर अधिकारियों का 16 वां अखिल भारतीय टीडीएस सम्मेलन पिंकसिटी में आयोजित हो रहा है. दो दिवसीय कॉन्फ्रेंस का उद्घाटन सीबीडीटी सदस्य पीके दास ने किया. इस अवसर पर राजस्थान की प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त नीना निगम मौजूद रही. कार्यक्रम में टीडीएस संकलन में इजाफे, कर सरलीकरण के प्रावधानों, नए कानूनों सहित टीडीएस संकलन में आ रही समस्याओं को दूर करने पर मंथन किया जा रहा है.

देशभर के 45 बड़े अधिकारी मौजूद
16वें अखिल भारतीय टीडीएस सम्मेलन में सीबीडीटी सदस्य पीके दास ने कहा कि फेसलैस स्क्रूटनी पर तेजी से काम हो रहा हैं. देशभर से 45 आयकर आयुक्त इस कांफ्रेंस में भाग ले रहे हैं. राजस्थान से अब तक 7,317 करोड़ रुपये टीडीएस के रूप में प्राप्त किए हैं. नए करदाताओं के शामिल होने की स्पीड भी बेहतर हैं. इस वर्ष  7.42 लाख नए करदाता शामिल होने की उम्मीद हैं. सीबीडीटी सदस्य ने बताया कि राजस्थान से इस बार 37.02 लाख आयकर रिटर्न भरे गए हैं. यह देश मे दूसरे स्थान पर हैं.  टीडीएस मिसमैच की समस्या कम हो इसके प्रयास किए जा रहे हैं. फेसलैस असेसमेंट आयकर विभाग को नई दिशा देगा.

राजस्थान लक्ष्य पूरे करने में आगे
राजस्थान की प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त नीना निगम ने कहा की राष्ट्रीय स्तर की टीडीएस कॉन्फ्रेंस आयोजित करने का जिम्मा हमारे लिए गर्व की बात है. इस कॉन्फ्रेंस से हमारे सामने आ रही विभिन्न समस्याओं को दूर करने में मदद मिलेगी साथ ही टीडीएस संकलन में तेजी का प्रोत्साहन भी मिल सकेगा. नीना निगम ने कहा कि टीडीएस रिटर्न कलेक्शन राजस्थान से तय लक्ष्य के मुकाबले  8 फीसदी अधिक रहा हैं. इस बार भी लक्ष्य से अधिक करने का प्रयास हैं. सीबीडीटी सदस्य पीके दास ने भी राजस्थान की टैक्स कलेक्शन की प्रगति पर संतोष जताया.

नए प्रावधान तय करेंगे दिशा
आयकर विभाग चालू वित्त वर्ष में टीडीएस कलेक्शन में इजाफे पर फोकस कर रहा है. इसके लिए तकनीकी संसाधनों पर भी ध्यान दिया जा रहा है. साथ ही कर वसूलने की प्रक्रिया में सरलीकरण पर भी जोर दिया जा रहा है. दो दिवसीय इस बैठक में देशभर के टीडीएस आयकर आयुक्त मंथन कर आयकर विभाग के टैक्स कलेक्शन में इजाफे की नई दिशा तय करेंगे.