close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: 26 सितंबर को आए कोर्ट के फैसले के बाद अब मंत्रियों के चक्कर काट रहे RPSC अभियर्थी

ओबीसी अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में शामिल किया जाए लेकिन आरपीएससी की ओर से मुख्य परीक्षा का आयोजन 9 अक्टूबर को किया जा रहा है. जिसके चलते अभ्यर्थियों को तैयारी का महज 13 दिन का समय ही मिल पाएगा. 

राजस्थान: 26 सितंबर को आए कोर्ट के फैसले के बाद अब मंत्रियों के चक्कर काट रहे RPSC अभियर्थी

जयपुर: आरपीएससी की ओर से आयोजित सहायक अभियंता भर्ती परीक्षा में अदालत ने हजारों बेरोजगारों को राहत तो दी है लेकिन अब आरपीएससी की ओर से इन बेरोजगारों की समस्या बढ़ गई है. गौरतलब है कि 18 जुलाई को आयोजित सहायक अभियंता भर्ती परीक्षा में एसटी और ओबीसी की कटऑफ सामान्य वर्ग से ज्यादा पहुंच गई थी. जिसके बाद बेरोजगारों ने अदालत का दरवाटा खटखटाया था.

हाईकोर्ट ने 26 सितंबर 2019 को फैसला सुनाते हुए कहा कि सामान्य वर्ग की कटऑफ से ज्यादा अंक प्राप्त सभी एसटी, ओबीसी अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में शामिल किया जाए लेकिन आरपीएससी की ओर से मुख्य परीक्षा का आयोजन 9 अक्टूबर को किया जा रहा है. जिसके चलते अभ्यर्थियों को तैयारी का महज 13 दिन का समय ही मिल पाएगा. अब हजारों बेरोजगार मुख्य परीक्षा की तिथि बढ़ाने की मांग को लेकर आरपीएससी के साथ ही मंत्री और अधिकारियों को चक्कर काट रहे हैं.

आरपीएससी की तैयारी कर रहे बेरोजगार आनंद ने कहा, मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए कम से कम 3 महीने का समय दिया जाना चाहिए. क्योंकि रिजल्ट आने के बाद से ही अदालती और मंत्रियों के घर के चक्कर काट रहे हैं. ऐसे में तैयारी का समय नहीं मिल पाया है.

वहीं बेरोजगार पप्पू राम ने कहा कि कोर्ट का फैसला आने के बाद से ही परीक्षा तिथि आगे बढ़ाने की मांग को लेकर चक्कर काट रहे हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं कर रहा है. ऐसे में अगर 9 अक्टूबर को मुख्य परीक्षा होती है तो हजारों अभ्यर्थियों का भविष्य खराब होने की संभावना है.