close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: एसीबी की बड़ी कार्रवाई, खनिज विभाग के ME और दलाल रंगे हाथों किया गिरफ्तार

वत्स ने अपने आरसी व्यास कॉलोनी स्थित आवास पर आकर मिलने की बात श्रवण लाल से कही. वत्स, इस काम के बदले 25 लाख रुपए मांग रहा है, यह रिश्वत उसे नहीं देना चाहता.

राजस्थान: एसीबी की बड़ी कार्रवाई, खनिज विभाग के ME और दलाल रंगे हाथों किया गिरफ्तार

दिलशाद खान, भीलवाड़ा: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने बुधवार को एक दलाल फतहनगर, बिजौलिया निवासी लक्ष्मण पुत्र जयलाल धाकड़ को 4 लाख रुपए की रिश्वत लेते बिजौलियां स्थित गोपाल मोटर्स से रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. दलाल ने यह रिश्वत खनिज अभियंता खान और भू-विज्ञान विभाग, आमेट (राजसमंद) गोपाल वत्स के कहने पर ली. इसके बाद एसीबी ने वत्स को भी उनके भीलवाड़ा आरसी व्यास कॉलोनी स्थित आवास से डिटेन कर लिया. 

एसीबी कोटा के एएसपी ठाकूर चंद्रशील कुमार ने बताया कि केरखेड़ा (बिजौलियां) निवासी श्रवणलाल पुत्र हीरालाल गुर्जर ने 20 सितंबर 19 को एसीबी से शिकायत की कि उसने 2017 में किशनगढ़ के राजेंद्र यादव से आरके ग्रेनाईट एंड मिनरल माईंस एमएल नंबर 139/ 06 नराणा, देवगढ़ में खरीदी थी. एक साल पहले यह माइंस परिवादी के बेटे चंद्रप्रकाश के नाम ट्रांसफर हो गई. 

यह माइंस क्वार्टस और फेल्सफार की स्वीकृत है. माइंस के नीचे ग्रेनाइट आने की संभावना है इसलिए माइंस ग्रेनाईट खनन की स्वीकृति के लिए प्रार्थना-पत्र एमई कार्यालय आमेट में लगाया. जिसमें अभी केवल सर्वे रिपोर्ट ही आई है. वह, एमई गोपाल वत्स से ग्रेनाइट की स्वीकृति का प्रस्ताव पूर्ण कर उदयपुर विभाग में स्वीकृति के लिए भिजवाने के लिए मिला. वत्स टालमटोल करते रहे. 12 सितंबर को आमेट एमई ऑफिस में मिला तो एमई वत्स ने कहा कि बिना खर्च यह काम नहीं हो सकता है. इस काम में बीस से पच्चीस लाख रुपए का खर्चा आएगा. 

वत्स ने अपने आरसी व्यास कॉलोनी स्थित आवास पर आकर मिलने की बात श्रवण लाल से कही. वत्स, इस काम के बदले 25 लाख रुपए मांग रहा है, यह रिश्वत उसे नहीं देना चाहता. उसे रंगे हाथ पकड़वाना चाहता हूं. इस पर एसीबी ने 23 सितंबर को रिश्वत मांग का गोपनीय सत्यापन करवाया. इसमें गोपाल वत्स ने अपने आवास पर श्रवण लाल से 25 लाख रुपए की रिश्वत की मांग करने की पुष्टि की. आरोपित ने दस लाख रुपये पूर्व में दिए जाने के लिए कहा. इस पर 25 सितंबर को ट्रेप कार्रवाई का आयोजन कर आरोपी के कहे अनुसार पूर्व में दिए जाने वाले दस लाख रुपयों में से चार लाख रुपए देने के लिए परिवादी श्रवण लाल को वत्स के आवास पर भेजा, लेकिन आरोपी ने पूरे दस लाख रुपए नहीं होने के कारण रिश्वत राशि ग्रहण नहीं की. 

बाद में एक साथ दस लाख रुपए देने के लिए कहा. इस पर 24 अक्टूबर को आरोपी गोपाल वत्स से वार्ता के लिए परिवादी को एमई कार्यालय आमेट भेजा गया तो आरोपित ने राशि लक्ष्मण लाल धाकड़ को बिजौलिया में देने के लिए कहा. फोन पर आरोपी वत्स द्वारा वार्ता कर लक्ष्मण धाकड़ को परिवादी श्रवण लाल के बारे में बताया गया. 

इस पर लक्ष्मण धाकड़ से परिवादी श्रवण की वार्ता के अनुसार आज बुधवार को ट्रेप कार्रवाई का आयोजन किया गया. इसमें लक्ष्मण लाल धाकड़ को 4 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. दलाल लक्ष्मण लाल को पकड़ने के बाद एसीबी टीम ने गोपाल वत्स को उसे आरसी व्यास कॉलोनी स्थित आवास से डिटेन कर लिया. एसीबी अब वत्स के आरसी व्यास कॉलोनी स्थित मकान के साथ ही बेगूं स्थित पैतृक मकान की तलाशी ले रही है. इस कार्रवाई में सीआई अजीत बगड़ोलिया, सीआई रमेश आर्य, भरत सिंह, दिलीप सिंह, नरेंद्र सिंह, मुकेश कुमार, मनोज कुमार, मोहम्मद खालिक, देवेंद्र सिंह शामिल थे.