close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: 6 विधायकों के कांग्रेस में शामिल होते ही बसपा में पड़ी फूट, बैठक में हुई मारपीट

मंच पर बैठे पार्टी नेताओं ने कार्यकर्ताओं को शांत करने की कोशिश की. आपसी कहासुनी में बात हाथापाई तक बढ़ गई और इसी दौरान हुई मारपीट में बसपा के प्रदेश महासचिव प्रेम बारूपाल का सिर फट गया.

राजस्थान: 6 विधायकों के कांग्रेस में शामिल होते ही बसपा में पड़ी फूट, बैठक में हुई मारपीट
इस विवाद के बाद अब पार्टी में अन्दरूनी राजनीति और तेज होने के आसार बन गए हैं.

जयपुर: बहुजन समाज पार्टी में घमासान मचा हुआ दिख रहा है. बीएसपी की राजस्थान यूनिट में छह विधायकों के पार्टी छोड़ने के बाद अब कार्यकर्ताओं ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं. राजधानी जयपुर में एक होटल में हुई बसपा की बैठक में कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच सिर फुटव्वल की नौबत आ गई. पूरा वाकया बसपा के राष्ट्रीय कन्वीनर रामजी गौतम और पूर्व प्रददेशाध्यक्ष भगवान सिंह बाबा और प्रदेशाध्यक्ष सीताराम मेघवाल जैसे वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में हुआ. मारपीट के बाद मामला बढ़ा तो विवाद पुलिस थाने तक भी जा पहुंचा. 

दूसरे राजनीतिक दलों की तरह बहुजन समाज पार्टी भी अपने कार्यकर्तओं और कैडर को अनुशासित बताती है, लेकिन रविवार को इस अनुशासन की कलई खुल गई. दरअसल, राजस्थान में बसपा के छह विधायकों के पार्टी छोड़कर पूरे विधायक दल का कांग्रेस में विलय करने के बाद से ही बसपा में परिस्थितियां पेचीदा हो गई हैं. कुछ कार्यकर्ताओं और प्रदेश पदाधिकारियों ने वरिष्ठ नेताओं पर कार्यकर्ता की अनदेखी के आरोप लगाए. वहीं, की कार्यकर्ताओं का कहना है कि पार्टी पहले विधायकों की बात नहीं सुन रही थी इसलिए वे पार्टी छोड़कर चले गए और अब कार्यकर्ताओं की सुनवाई भी नहीं हो रही है. कार्यकर्ताओं का कहना था कि वे किस स्तर पर अपनी बात रखें इस बारे में भी उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया जाता.
 
रविवार को राजधानी जयपुर के एक होटल में हुई बैठक में यह मामला उठा. बसपा के राष्ट्रीय कन्वीनर रामजी गौतम और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष भगवान सिंह बाबा की मौजूदगी में हुई संगठनात्मक बैठक में आए पार्टी के लोगों ने अनदेखी का मुद्दा उठाया. पार्टी के कुछ पुराने कार्यकर्ताओं ने यह मामला उठाया था. इस दौरान मंच पर बैठे पार्टी नेताओं ने कार्यकर्ताओं को शांत करने की कोशिश की. आपसी कहासुनी में बात हाथापाई तक बढ़ गई और इसी दौरान हुई मारपीट में बसपा के प्रदेश महासचिव प्रेम बारूपाल का सिर फट गया.

वहीं, बारूपाल ने इस मामले में प्रदेशाध्यक्ष सीताराम मेघवाल के साथ पुलिस थाने पहुंच कर एफआईआर दर्ज कराई है. बारूपाल का आरोप है कि पार्टी के ही पुराने कार्यकर्ताओं ने बैठक के दौरान हुए विवाद में उन पर सरिये से हमला कर घायल कर दिया. इस मामले में दूसरे गुट ने भी सिंधी कैम्प थाने में एफआईआर दी है. इस पूरे विवाद को पार्टी से छह विधायकों के जाने और बसपा विधायक दल के कांग्रेस में विलय से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि पार्टी ने यह बैठक पूरे मामले के बाद संगठन को मजबूत करने और स्थानीय पदाधिकारियों को रकसने के लिए बुलाई थी, लेकिन इस विवाद के बाद अब पार्टी में अन्दरूनी राजनीति और तेज होने के आसार बन गए हैं.