राजस्थान: पुलिसकर्मियों के लिए यादगार बनी दिवाली, SP ने दी सभी को 'मीठी' बधाई

दिवाली की रात को झुंझुनूं में. झुंझुनूं एसपी गौरव यादव अचानक देर रात को झुंझुनूं शहर में कार्यरत पुलिसकर्मियों से मिलने के लिए निकल पड़े.

राजस्थान: पुलिसकर्मियों के लिए यादगार बनी दिवाली, SP ने दी सभी को 'मीठी' बधाई
एसपी ने बताया कि पुलिसकर्मी दिवाली के दिन भी ड्यूटी करते हैं.

संदीप केडिया, झुंझुनूं: अक्सर पुलिसकर्मियों को एसपी से मुलाकात के लिए पहले तो कार्यालय पहुंचना पड़ता है और फिर पर्ची देकर टाइम लिया जाता है. यदि त्योहार का मौका हो तो एसपी समेत अन्य पुलिस अधिकारियों से मिलना बेहद मुश्किल होता है क्योंकि उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा रहता है लेकिन जब ये ही अधिकारी आपके पास आकर बोले हैप्पी दिवाली और आपको मिठाई के साथ-साथ आपके हाल-चाल पूछें तो यह किसी सपने से कम नहीं होगा. 

यही हुआ दिवाली की रात को झुंझुनूं में. झुंझुनूं एसपी गौरव यादव अचानक देर रात को झुंझुनूं शहर में कार्यरत पुलिसकर्मियों से मिलने के लिए निकल पड़े. उनके साथ सिटी डीएसपी लोकेंद्र दादरवाल तथा शहर कोतवाल गोपालसिंह ढाका भी थे. एसपी गौरव यादव ने विभिन्न प्वाइंटों पर सेवा दे रहे पुलिसकर्मियों से ना केवल मुलाकात की बल्कि अपनी तरफ से सभी को व्यक्तिगत रूप से दिवाली की बधाई भी दी और इसके बाद उन्हें मिठाई दी गई. 

एसपी गौरव यादव ने इस दौरान उनके घर के हाल-चाल के साथ खुद के हाल-चाल पूछे और ड्यूटी के दौरान के अनुभवों को साझा किया. एसपी ने बताया कि पुलिसकर्मी दिवाली के दिन भी ड्यूटी करते हैं और वह भी अपने घर-परिवार से दूर रहकर इसलिए उन्हें ऐसा महसूस ना हो कि वे घर से दूर है इसलिए उन्होंने खुद सभी से मुलाकात की और उन्हें बधाई दी. एसपी के निर्देश पर जिले के अन्य सर्किलों में भी पुलिस अधिकारियों ने ऐसे ही कार्यक्रम किए.

पहले कर चुके हैं नवाचार
ना केवल झुंझुनूं के लोगों, महिलाओं के लिए, बल्कि कर्मचारियों के लिए एसपी गौरव यादव पहले भी नवाचार कर चुके हैं. उन्होंने हेलमेट की अनिवार्यता के लिए 'आई एम सेफ' कैंपेन चलाया है. तो वहीं महिलाओं के लिए सशक्तिकरण अभियान और मैत्री कार्यक्रम चलाया गया है. इसके अलावा वह पुलिसकर्मियों पर से दबाव कम करने के लिए लगातार नए नए कार्यक्रमों के जरिए उनके मनोबल को बढ़ाते रहते हैं. यही कारण है कि इस बार दिवाली को खास बनाने के लिए एसपी गौरव यादव करीब दो घंटे तक पूरे शहर में घूमे और ड्यूटी कर रहे जवानों के साथ मुलाकात कर उन्हें 'मीठी' बधाई दी.