close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: RCA चुनाव को लेकर जारी किया गया चुनावी कार्यक्रम, 4 अक्टूबर को होगा मतदान

आरसीए कार्यालय की ओर से जारी किए गए इस चुनावी कार्यक्रम की प्रक्रिया आज से शुरू होने जा रही है. 27, 28 सितंबर को वोटर लिस्ट पर आपत्तियां दर्ज करवा सकेंगे. 

राजस्थान: RCA चुनाव को लेकर जारी किया गया चुनावी कार्यक्रम, 4 अक्टूबर को होगा मतदान
आरसीए कार्यालय की ओर से जारी किए गए इस चुनावी कार्यक्रम की प्रक्रिया आज से शुरू होने जा रही है.

जयपुर: राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन में चुनाव को लेकर आखिरकार RCA कार्यालय की ओर से नया चुनावी कार्यक्रम जारी कर दिया गया है. हालांकि इस चुनावी कार्यक्रम को अभी तक चुनाव अधिकारी की मंजूरी नहीं मिली है लेकिन अगर आरसीए कार्यालय की माने तो आरसीए के चुनाव 4 अक्टूबर को होने जा रहे हैं. 

आरसीए कार्यालय की ओर से जारी किए गए इस चुनावी कार्यक्रम की प्रक्रिया आज से शुरू होने जा रही है. 27, 28 सितंबर को वोटर लिस्ट पर आपत्तियां दर्ज करवा सकेंगे. वहीं 29 सितंबर को इन आपत्तियों पर सुनवाई होगी. इसके साथ ही RCA कार्यालय की ओर से आपत्तियों से लेकर वोटिंग और परिणाम तक का पूरा चुनावी कार्यक्रम जारी किया गया है. 

गौरतलब है कि गुरुवार सुबह ही बीसीसीआई की ओर से RCA के नए चुनाव अधिकारी की नियुक्ति की है लेकिन अभी तक भी चुनाव अधिकारी द्वारा आरसीए से कोई संपर्क नहीं किया गया है. हालांकि RCA पदाधिकारियों ने दो बार मेल के माध्यम से चुनाव अधिकारी से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उनके द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया. जिसके बाद देर रात आरसीए कार्यालय की ओर से चुनावी कार्यक्रम जारी किया गया है. 

वहीं दूसरी ओर रामेश्वर डूडी गुट के आर एस नान्दू का कहना है कि यह चुनावी कार्यक्रम पूरी तरीके से अवैधानिक है क्योंकि जब एक बार चुनाव अधिकारी की नियुक्त कर दी जाता है तो फिर चुनावी कार्यक्रम जारी करने का अधिकार सिर्फ चुनाव अधिकारी को ही होता है. 

ऐसे में RCA कार्यालय की ओर से जारी किया गया चुनावी कार्यक्रम उनकी बौखलाहट को दिखाता है. हालांकि, RCA कार्यालय की ओर से जारी किए गए इस चुनावी कार्यक्रम को चुनाव अधिकारी की मंजूरी के बाद ही वैध माना जाएगा. ऐसे में शुक्रवार का दिन RCA चुनाव की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण होने वाला है. चुनाव अधिकारी इस चुनावी कार्यक्रम को मंजूरी देते हैं या फिर नया चुनावी कार्यक्रम जारी करते हैं.