राजस्‍थान: गृह मंत्रालय ने फोन टैपिंग पर रिपोर्ट मांगी, BJP नेता कांग्रेस के बागी विधायकों से मिले

राजस्‍थान में कांग्रेस की अंदरूनी कलह सियासी बिसात पर नया मोड़ ले रही है.

राजस्‍थान: गृह मंत्रालय ने फोन टैपिंग पर रिपोर्ट मांगी, BJP नेता कांग्रेस के बागी विधायकों से मिले

नई दिल्‍ली: राजस्‍थान में कांग्रेस की अंदरूनी कलह सियासी बिसात पर नया मोड़ ले रही है. राजस्थान सरकार को गिराने की कथित साजिश से जुड़े दो ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद लगे फोन टैपिंग के आरोपों के संबंध में केंद्र सरकार ने शनिवार को राज्य के मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी. एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्रालय की ओर से भेजे गए पत्र में राजस्थान के मुख्य सचिव से फोन टैपिंग के आरोपों के बारे में रिपोर्ट भेजने को कहा गया है. 

उन्होंने बताया कि दो ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद मुख्य सचिव से घटनाक्रम की जानकारी मांगी गई है. राजस्थान पुलिस के भ्रष्टाचार निरोधी ब्यूरो (एसीबी) ने दोनो ऑडियो क्लिप के मामले में भ्रष्टाचार निरोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया है. इन दोनों टेप में कथित रूप से गहलोत सरकार को गिराने के लिए किए गए षड्यंत्र से जुड़ी बातचीत रिकॉर्ड है. भाजपा ने इन टेपों की जांच सीबीआई से कराने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि राजस्थान सरकार लोगों के फोन टैप करवा रही है. 

CM अशोक गहलोत ने राज्यपाल से की मुलाकात, बहुमत का किया दावा 

राजस्थान एसीबी के महानिदेशक आलोक त्रिपाठी ने कहा कि एजेंसी ने कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की है. प्राथमिकी में बागी विधायक भंवरलाल शर्मा की गजेंद्र सिंह और एक अन्य व्यक्ति संजय जैन के साथ बातचीत का विस्तृत ब्‍यौरा है. कांग्रेस का दावा है कि ऑडियो टेप में जिस गजेन्द्र सिंह का नाम आ रहा है वह केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह ही हैं.

ये भी देखें-

बीजेपी नेताओं की मुलाकात
इस बीच सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि राजस्थान भाजपा के दो वरिष्‍ठ नेता प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया और राजेंद्र राठौड़ हरियाणा के मानेसर में कांग्रेस के बागी विधायकों से मिले. 

जानकार सूत्रों ने खुलासा किया है कि आईटीसी भारत होटल में पूनिया और राठौड़ ने कांग्रेस के बागी विधायकों से मुलाकात की. भाजपा नेताओं की बैठक इन बागी विधायकों से करीब 2 घंटे से ज्यादा चली. सूत्रों के मुताबिक गुप्त तरीके से होटल पहुंचे थे पूनिया और राठौड़ गुप्‍त तरीके से होटल पहुंचे थे. दोपहर बाद से ही राठौड़ और पूनिया के फोन भी स्विच ऑफ आ रहे थे.