close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: इंजीनियरिंग भर्ती को लेकर किरोड़ीलाल मीणा का राजनीतिक स्टंट फेल, हुआ कुछ ऐसा

राजस्थान लोक सेवा आयोग प्रदेश में अलग-अलग ट्रेंड के इन्जीनियर्स की भर्ती के लिए परीक्षा करा रहा है. 916 पदों पर होने वाली इस भर्ती में एईएन सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और दूसरी ट्रेंड के पद हैं.

राजस्थान: इंजीनियरिंग भर्ती को लेकर किरोड़ीलाल मीणा का राजनीतिक स्टंट फेल, हुआ कुछ ऐसा

जयपुर: प्रदेश में आरपीएससी की तरफ से अलग अलग ट्रेंड के इंजीनियर्स की भर्ती परीक्षा आयोजित की जा रही है. इस परीक्षा में कोर्ट के आदेश के बाद बैठने वाले अभ्यर्थी तैयारी के लिए समय की मांग कर रहे हैं. परीक्षा आगे बढ़ाए जाने की मांग को लेकर एईएन भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी शुक्रवार को उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के सरकारी बंगले पर पहुंचे. पूर्व मंत्री और राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा की अगुवाई में आए एईएन भर्ती के अभ्यर्थी किरोड़ी के समर्थन में नारे लगाते पहुंचे. पायलट के घर पहुंचकर किरोड़ीलाल मीणा ने उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से बातचीत की और पूरा मामला उन्हें बताया. 

सचिन पायलट ने सभी अभ्यर्थियों को सुना और उन्हें परीक्षा की तारीख आगे बढ़वाने का आश्वासन भी दिया. पायलट ने कहा कि वो इस बारे में आरपीएससी से बातचीत करेंगे और शाम तक संभव है. कोई ना कोई सक्रिय समाधान जरूर निकलेगा.

उधर किरोड़ी लाल मीणा का कहना था कि वो सरकार के मुखिया के साथ प्रदेश में अलग-अलग स्तरों पर इस मांग के लिए समय मांग रहे थे लेकिन उन्हें समय नहीं मिला. किरोड़ी ने कहा किर उप-मुख्यमंत्री से समय मांगने पर उन्होंने बुलाया तो उन्होंने पूरे मामले की पायलट को जानकारी भी दी है. किरोड़ी ने बताया कि परीक्षा में बैठने वाले इन अभ्यर्थियों को यहां से सकारात्मक आश्वासन मिला है. 

क्या है पूरा मामला ?
राजस्थान लोक सेवा आयोग प्रदेश में अलग-अलग ट्रेंड के इन्जीनियर्स की भर्ती के लिए परीक्षा करा रहा है. 916 पदों पर होने वाली इस भर्ती में एईएन सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और दूसरी ट्रेंड के पद हैं. इसके लिए प्री परीक्षा में पास होने वाले अभ्यर्थियों के लिए 9 से 11 अक्टूबर तक मुख्य परीक्षा की तारीख आरपीएससी ने तय की है. एक अक्टूबर को कोर्ट के आदेश के बाद कुछ और अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा के पात्र घोषित किए गए हैं. अब यही अभ्यर्थी समान अवसरों की दुहाई देकर परीक्षा तिथि बढ़ाने की मांग कर रहे हैं.

नारों में बदला अभ्यर्थियों का नेता
उप मुख्यमन्त्री सचिन पायलट से मुलाकात से पहले एईएन भर्ती के अभ्यर्थी किरोड़ीलाल मीणा के समर्थन में नारे लगा रहे थे. इसके साथ ही अपने अधिकार की बात करने वाले अभ्यर्थी कह रहे थे कि परीक्षा आगे खिसकाने की मांग उनका अधिकार है और वो इस मामले में किसी से भीख नहीं मांग रहे हैं लेकिन पायलट ने अभ्यर्थियों को सुना और उन्हें सकारात्मक आश्वासन दिया तो अभ्यर्थियों के सुर भी बदल गए. पायलट के घर से लौटते वक्त उन्होंने पायलट को अपना नेता बताया और उनके समर्थन में नारे भी लगाए.