close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: बंदूक की नौक पर बदमाशों ने पेट्रोल पंप लूटा, मामले की जांच में जुटी पुलिस

फिलहाल बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा है. हालांकि, लूट की ये पूरी वारदात पेट्रोल पंप पर लगे CCTV कैमरे में कैद हो गई जिसके आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है.

राजस्थान: बंदूक की नौक पर बदमाशों ने पेट्रोल पंप लूटा, मामले की जांच में जुटी पुलिस
प्रतीकात्मक तस्वीर

जैस्मीन शर्मा, जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर में बदमाशों के हौसले किस कदर बुलंद हैं इसकी बानगी एक बार और देखने को मिली. रेनवाल के करणसर में देर रात पेट्रोल पंप पर लूट की वारदात सामने आई है. देर रात लूट की वारदात को कुछ बदमाशों ने अंजाम दिया है. जानकारी के मुताबिक हिंगोनिया मार्ग पर एसआर पेट्रोल पंप सेल्समैन के साथ बन्दूक की नोक पर लूट की वारदात को अंजाम दिया गया. 

हथियारों से लैस लगभग 6 बदमाश थार जीप में सवार होकर देर रात SR पेट्रोल पंप पर पहुंचे और बन्दूक की नोक पर पेट्रोल पंप के सेल्समैन को बाथरूम में बंधक बनाकर पंप पर लूट की वारदात को अंजाम दिया. वारदात के बाद सांभर सीओ, रेनवाल थाने समेत तीन थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन में जुटी हुई है. पुलिस इलाके में कड़ी नाकाबंदी कर बदमाशों की तलाश में जुटी हुई है.  

फिलहाल बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा है. हालांकि, लूट की ये पूरी वारदात पेट्रोल पंप पर लगे CCTV कैमरे में कैद हो गई जिसके आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है. पेट्रोल पंप पर मौजूद चोकीदार से भी पुलिस पूछताछ कर रही है. हालांकि वारदात के बात चौकीदार अभी कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है, अभी तक की छानबीन में लगभग एक लाख की लूट का खुलासा हुआ है. पुलिस आसपास के इलाके में भी छानबीन में जुटि हुई है.

गौरतलब है कि प्रदेश में लगातार चरमराती कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर सवाल उठ रहे हैं और ऐसे में एक के बाद एक वारदातों का सामने आना सरकार की मंशा पर भी सवाल खड़े कर रहा है. राज्य की गिरती कानून व्यवस्था को लेकर पायलट ने चिंता जाहिर करते हुए गहलोत पर भी निशाना साधा है. 

पायलट ने कहा कि कई जगह कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हुई है. इसको गंभीरता से लेना चाहिए. बता दें कि वर्तमान में मुख्यमंत्री गहलोत प्रदेश के गृहमंत्री भी है और कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी भी उनकी ही है. यही नहीं, हालही में दिल्ली में हुई कांग्रेस की बैठक में भी कांग्रेस आलाकमान की तरफ से जल्द से जल्द कानून व्यवस्था में सुधार लाने के निर्देश दिए जा चुके हैं. अब ऐसे में सावल उठता है कि चरमराती कानून व्यवस्था को लेकर आगे आने वाले समय में सरकार क्या कदम उठती है ताकि अपराध की बढ़ती वारदातों पर काबू पाया जा सके.