close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: कब्रगाह बनता जा रहा है नाहरगढ़ बायलॉजिकल पार्क, मृत मिली बाघिन 'सीता'

आज गुरुवार को सफेद बाघिन 'सीता' की मौत की खबर मिल रही है.

राजस्थान: कब्रगाह बनता जा रहा है नाहरगढ़ बायलॉजिकल पार्क, मृत मिली बाघिन 'सीता'
वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan)का मशहूर नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क (Nahargarh Biological Park) बाघ और शेरों की “कब्रगाह“ बनता जा रहा है. आज गुरुवार को सफेद बाघिन 'सीता' की मौत की खबर मिल रही है. पिछले एक सप्ताह में एक के बाद एक दो शेर और एक बाघिन की मौत हुई है. मौत का कारण केनाइन डिस्टेंपर वायरस वायरस पॉज़िटिव होना बताया जा रहा.

इससे पहले भी नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में 2 दिन में दो मौत हो जाने के बाद वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. आपको बता दें कि पहले एशियाटिक शेरनी सुजैन की मौत के बाद 10 महीने की भाग्य रिद्धि ने दम तोड़ दिया था. सुजैन के विसरा में केनाइन डिस्टेंपर वायरस पॉजिटिव आई थी. जिसके बाद आशंका जताई जा रही थी कि कही रिद्धि की मौत भी इसी वायरस की वजह से तो नहीं हुई. अगर ऐसा है तो बायोलॉजिकल पार्क में पल रहे दर्जनों वन्यजीवों के जीवन पर संकट खड़ा हो गया है.

केनाइन डिस्टेंपर वायरस मिला पॉजिटिव
बता दें कि नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में एशियाटिक बाघिन सुजैन की मौत के बाद आईवीआरआई के चिकित्सकों ने उसके विसरा में केनाइन डिस्टेंपर वायरस पॉजिटिव पाया था. 'सीता' की मौत के बाद यहां के बाघिन और शेरनी की जिंदगी संकट में मानी जा रही है.

वन्यजीवों के लिए बड़ा खतरा
वन विभाग के अनुसार इस बात की आशंका है कि रिद्धि के विसरा में भी कैनाइन डिस्टेंपर वायरस पाया गया तो यह बायोलॉजिकल पार्क में पल रहे दर्जनों वन्यजीवों के लिए बहुत बड़े खतरे का संकेत हैं. 

जानिए कैसे फैलता है यह वायरस
दरअसल, कुत्तों से फैला कैनाइन डिस्टेंपर वायरस शेर और बाघ की जान के लिए खतरा बन जाता है. बताया जा रहा है कि अब तक इसके संक्रमण से जूझ रहे शेर-बाघों को बचाने वाली कोई वैक्सीन तक नहीं है. ऐसे में कुत्तों के लिए बनी वैक्सीन के शेर और बाघ पर टेस्ट की अनुमति लेने की तैयारी चल रही है. इसके लिए आईवीआरआई(IVRI)ने मिनिस्ट्री ऑफ इंनवार्यन्मेंट (Ministry Of Environment) और सेंट्रल जू अथॉरिटी (Central Zoo Authority) को पत्र भेजा भी भेजा था. 

वैक्सीन का मुद्दा गरमाया
वैसे इटावा लायन सफारी के शेर कुबेर में कैनाइन डिस्टेंपर वायरस के संक्रमण की पुष्टि के बाद वैक्सीन का मुद्दा गरमा गया है. दरअसल इस बीमारी को फैलाने वाले कुत्तों के लिए जरूर वैक्सीन बनाई गई है पर वैज्ञानिक इसे शेर-बाघों पर टेस्ट करने से घबरा रहे हैं.