close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अनूठा रावण दहन : गोलियों से किया रावण की सेना को छलनी

उदयपुरवाटी नगरपालिका के संयुक्त तत्वावधान में दादूपंथी पांचों अखाड़ों के द्वारा रावण के पुतले का दहन किया गया. रावण की सेना रूपी मटकों को गोलियों से छलनी करने के बाद रावण के पूतले का दहन किया गया. 

अनूठा रावण दहन : गोलियों से किया रावण की सेना को छलनी
राजस्थान के झुंझुनूं जिले में इस अनोखे रावण दहन का आयोजन हुआ.

संदीप केडिया, झुंझुनूं: बुराई पर अच्छाई की जीत का उत्सव दशहरा मंगलवार झुंझुनूं के उदयुरवाटी में भी परंपरागत रूप से मनाया गया. उदयपुरवाटी नगरपालिका के संयुक्त तत्वावधान में दादूपंथी पांचों अखाड़ों के द्वारा रावण के पुतले का दहन किया गया. रावण की सेना रूपी मटकों को गोलियों से छलनी करने के बाद रावण के पूतले का दहन किया गया. 

इससे पहले जमात से दादूपंथी पांचों अखाड़ों का लवाजमा शुरू हुआ. लवाजमा तीन नंबर चूंगी, जांगिड़ कॉलोनी, टीटेड़ा, पांच बत्ती, मुख्य बाजार, पोस्ट ऑफिस, टोडी मुड़ा बालाजी, पुलिस थाने से घूमचक्कर होते हुए नांगल नदी पहुंचा. नांगल नदी की तट पर स्थित पहाड़ी पर अखाड़ा के लोगों व निशानेबाजों ने रावण की सेना के रूप में रखे मटकों पर बंदूक से गोलियां बरसानी शुरू कर दी. रावण की सेना के पहली गोली पिंटू स्वामी की बंदूक से लगी तथा दूसरे गोली विधायक राजेंद्रसिंह गुढ़ा की बंदूक से लगी. मटकों को छलनी करने के बाद दादू पंथी पांचों अखाड़ा के द्वारा अग्निबाण चलाकर रावण के पुतले का दहन किया गया. 

इस दौरान हजारों की संख्या में महिला-पुरूष, युवक-युवतियां रावण दहन को देखने के लिए पहुंचे. इस बार प्रबुद्धजनों को ही पास जारी कर रावण दहन की सीमा में आने दिया. 

इस दौरान पांचों अखाड़ा के मंत्री शंकरदास स्वामी, विधायक राजेंद्रसिंह गुढ़ा, नायब तहसीलदार जगतसिंह शेखावत, गिरदावर गिरधारीलाल वर्मा, सीआई भगवान सहाय मीणा, भाजपा नेता कुबेरसिंह शेखावत, संजय गुढ़ा, राजेंद्र मारवाल, सीओसी जिला संयोजक नितेश सैनी, पार्षद अजयसिंह तसीड़, संदीप जीनगर, रोहिताश सेन, दीपक स्वामी, पिंटू स्वामी, राहुल स्वामी, लोकेश दादूपंथी, शुभम स्वामी, वंश वर्मा, हेमराज स्वामी, बाबू, कमलेश जीनगर, महेश सैनी, एडवोकेट श्रवणकुमार सैनी, सैनी समाज संस्थान के अध्यक्ष दौलतराम सैनी, मोहनदास, रामस्वरूप दास, रामलाल दास, गिरवरदास, घनश्याम स्वामी आदि मौजूद. 

रावण दहन के स्थान नांगल नदी पर पुलिस की कोई खास माकूल व्यवस्था नहीं होने ये अव्यवस्थाएं रही. रावण दहन के एन वक्त पर सीआई भगवान सहाय पहुंचे.